Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, अक्तूबर 15, 2018 | समय 18:43 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

बोकारो में पारा 43 डिग्री पार, जन जीवन हुआ दुश्वार

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 21 2018 8:09PM
बोकारो में पारा 43 डिग्री पार, जन जीवन हुआ दुश्वार
(संशोधित हेडिंग के साथ ) बोकारो, 21 अप्रैल (हि.स.)। बोकारो में गर्मी अब अपने प्रचंड रूप में आ चुकी है। तापमान में दिनानुदिन बढ़ोतरी हो रही है। इस बार की गर्मी के मौसम में शनिवार का दिन सबसे अधिक गर्म दर्ज किया गया। मौसम-विज्ञान संबंधी सूत्रों के अनुसार बोकारो में शनिवार को अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। दोपहर लगभग दो बजे का अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस रहा, जबकि न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस बताया गया। आने वाले चार-पांच दिनों में तापमान में कमी होने की कोई गुंजाइश नहीं दिख रही। इतना जरूर है कि बीच-बीच में बारिश की संभावना भी जतायी जा ही है, जिससे शाम के समय थोड़ी राहत मिलने की उम्मीद है। मई और जून में स्थिति और भी विकट होने की संभावना है। बहरहाल, गर्मी के इस रौद्र रूप के कारण आम -जन-जीवन बुरी तरह प्रभावित हो रहा है। मौसम ऐसा कि मानो आसमान अंगारे बरसा रहा हो और धरती शोला बन चुकी हो। शहर में लू के थपेड़े शरीर झुलसा रहे हैं। सुबह के आठ बजे के बाद से ही लू के थपेड़े चलने लग रहे हैं। झुलसाती गर्मी की तपिश में सड़कों पर दोपहिया या पैदल चलना शोलों से गुजरकर चलने जैसा प्रतीत हो रहा है। लोग अभी से ही घर से बाहर निकलने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे। वे दिन भर घर में दुबके रहने को विवश हैं। अनिवार्यतावश लोग निकलते भी हैं तो पूरे एहतियात के साथ मुंह बांधे। लोगों का कहना है कि अभी से ही गर्मी जब खून जला रही है तो मई और जून आते-आते क्या होगा? इस गर्मी में सबसे ज्यादा परेशानी स्कूल जाने वाले छोटे-छोटे बच्चों को हो रही है। कई स्कूल और बच्चों के माता-पिता गर्मी के मद्देनजर प्रशासन से छुट्टी या समय-परिवर्तन की आस लगाये बैठे हैं, लेकिन अभी तक इस दिशा में कोई प्रशासनिक पहल नहीं की जा सकी है। प्रशासन को शायद और गर्मी का इंतजार है। दूसरी तरफ, गर्मी के कारण सड़कों के किनारे फुटपाथ पर गुजर-बसर करने वाले गरीबों का भी बुरा हाल है। वहीं, दो वक्त की रोटी की खातिर मेहनतकश रिक्शाचालकों, ठेला चालकों को भी गर्मी के बावजूद काफी परेशानियां झेलनी पड़ रही है। वहीं, गर्मी की भीषणता बढ़ने के साथ-साथ शहर में शीतल-पेय, शरबत आदि की दुकानों पर भीड़ उमड़ रही है, जिसे पीकर लोग राहत की सांस ले रहे हैं। वहीं फ्रिज, पंखा, कूलर, एसी की खरीदारी भी तेज होती जा रही है और इनके दुकानदारों की चांदी है। कुल मिलाकर, आने वाले दिनों में बोकारोवासियों को अभी और गर्मी का दंश झेलना पड़ेगा, जिसके लिये उन्हें तैयार रहना होगा। हिन्दुस्थान समाचार/दीपक/शंकर
image