Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, अक्तूबर 15, 2018 | समय 17:55 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

कोडरमा में आभूषण कारोबारी से 1.32 करोड़ नकद और 4.5 किलो सोने की लूट

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 15 2018 6:08PM
कोडरमा में आभूषण कारोबारी से 1.32 करोड़ नकद और 4.5 किलो सोने की लूट
कोडरमा, 15 अप्रैल (हि.स.)। कोडरमा थाना अंतर्गत पटना-रांची रोड पर 1.32 करोड़ रुपये नकदी और करीब साढ़े चार किलो सोना लूट लिया गया। घटना जिला मुख्यालय कोडरमा से मात्र दो किमी की दूरी पर हुई। इस घटना को बोलेरो पर सवार अपराधियों ने शनिवार देर रात बागीटांड़ के पास वारदात को अंजाम दिया। पुलिस में दर्ज प्राथमिकी के अनुसार चार अपराधी बोलेरो गाड़ी पर हथियार के साथ आये और पटना के आभूषण के थोक कारोबारी राजेश कुमार की क्रेटा गाड़ी को रोक कर लूट को अंजाम दिया। व्यवसायी राजेश कुमार के साथ गाड़ी में दो ड्राइवर थे, जिसमें एक को अपराधी अपने साथ ले गये। इस मामले में एसपी शिवानी तिवारी ने दो टीमें गठित की हैं। एसपी ने बताया है कि एक टीम को मामले की जांच के लिए बिहार भेजा गया है, जबकि दूसरी टीम कोडरमा में ही मामले की जांच कर रही है। व्यापारी राजेश कुमार द्वारा कोडरमा थाने में मामले को लेकर कांड संख्या 73/18 दर्ज कराया गया है। तमिलनाडु जा रहे थे राजेश जानकारी के अनुसार पटना निवासी व्यवसायी राजेश कुमार अपनी क्रेटा गाड़ी से पटना से तमिलनाडु के कोयंबटूर जा रहे थे। इसी दौरान घटना हुई और अपराधी लूटपाट के बाद रजौली की ओर भाग गए। लूटी गयी गाड़ी का नंबर बीआर01 सीवाई 5713 है। हालांकि पूरे मामले को पुलिस अभी संदिग्ध मान कर चल रही है। कारोबारी ने इस संबंध में पुलिस को बताया है कि लूट के बाद वे अपने एक ड्राइवर के साथ किसी वाहन से रजौली चले गये और वहां पुलिस को घटना के बारे में बताया तो वहां की पुलिस ने इसे कोडरमा जिले का मामला बताया। इसके बाद वे दोनों कोडरमा आये और थाने में मामला दर्ज कराया। कोडरमा थाना प्रभारी आनंद मोहन सिंह व्यवसायी और उनके चालक से लगातार पूछताछ कर रहे हैं। कोडरमा थाने में राजेश से इतनी बड़ी रकम व सोना इस तरह केरल ले जाने को लेकर भी पूछताछ की जा रही है। नकदी को लेकर मामला संदिग्ध इस मामले में भारी मात्रा में नकदी को गाड़ी में लेकर जाना भी संदिग्ध माना जा रहा है। हालांकि पुलिस को दिये अपने बयान में व्यावसायी राजेश कुमार ने कहा कि वह अक्सर इस तरह कोयंबटूर जाते हैं और वहां सोने के जेवरात बनवाते हैं। उसे बिहार के विभिन्न ज्वेलर्स को सप्लाई करते हैं, जबकि नकदी से वहां चांदी खरीदते हैं। 2 करोड़ 50 लाख से अधिक की लूट दर्ज मामले में राजेश कुमार ने बताया है कि वह सोना और चांदी का कारोबार करते हैं। पटना और आसपास के क्षेत्रों से सोना खरीद कर उसे कोयंबटूर की मंडी में बेचने और उसके बदले सोना के जेवर और चांदी के जेवर खरीदने का कार्य करते हैं। शनिवार को वह अपनी क्रेटा कार और चालक विवेक कुमार के साथ लगभग एक करोड़ 25 लाख रुपये मूल्य का साढ़े चार किलो सोना और नकद एक करोड़ 32 लाख रुपये लेकर फुलवारीशरीफ से कोयंबटूर के लिए निकले थे। रास्ते में बिहारशरीफ के पास एक अन्य सहचालक पटरू को लिया, उसके बाद वहां चल पड़े। घटनास्थल पर पीछे की ओर से चली आ रही बेलोरो ने उन्हें ओवरटेक कर रुकवाया और उससे तीन लोग नीचे उतरे। चाकू तथा देशी कट्टा के बल पर कार का दरवाजा खुलवाया और कार को कब्जे में ले लिया। कार के ड्राइवर को उक्त लोगों ने बैक करने को कहा और कुछ दूर जाने पर उक्त लोगों ने सहचालक पटरू को उतार दिया। फिर कुछ दूर जाने पर मुझे भी उतार दिया और मेरे चालक विवेक कुमार को रजौली की ओर क्रेटा लेकर चलने को कह वहां से फरार हो गए। एसडीपीओ अनिल शंकर और थाना प्रभारी आनंद मोहन सिंह ने कहा की जिस तरह से भुक्तभोगी घटना की जानकारी दे रहे हैं उससे संदेह भी उत्पन्न हो रहा है। हालांकि उनके द्वारा थाने को दिए गए आवेदन के आधार पर मामला दर्ज कर, छानबीन शुरू कर दी गयी है।एसडीपीओ ने कहा कि इतनी बड़ी मात्रा में लूटे गये सोने और रुपये के बाबत कोई कागजात भी अभी तक प्रस्तुत नहीं किया गया है। हिन्दुस्थान समाचार/ संजीव/वंदना/दधिबल
image