Hindusthan Samachar
Banner 2 गुरुवार, अप्रैल 25, 2019 | समय 07:21 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

जीपीएस ट्रैकिंग पर प्रशिक्षण 17 को, हर जिले से एक नोडल अफसर होंगे शामिल

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 15 2019 7:43PM
जीपीएस ट्रैकिंग पर प्रशिक्षण 17 को, हर जिले से एक नोडल अफसर होंगे शामिल
रांची, 15 अप्रैल (हि.स.)। राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एल खियांग्ते ने संथाल परगना, कोल्हान और पलामू प्रमंडल के आयुक्तों औऱ इसके अंतर्गत आने वाले जिलों के जिला निर्वाचन पदाधिकारियों के साथ सोमवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग कर चुनाव तैयारियों की समीक्षा की। खियांग्ते ने मतदान के दिन मतदान केंद्रों की वेब कास्टिंग, पोस्टल बैलेट पेपर प्रिंटिंग, मतदान कर्मियों के लिए इलेक्शन ड्यूटी सर्टिफिकेट सहित मतदान केंद्रों पर सुरक्षा औऱ मतदाताओं के लिए उपलब्ध कराई जानेवाली सुविधाओं की जानकारी ली। उन्होंने बताया कि हर जिले से एक नोडल अफसर औऱ कंप्यूटर आपरेटर का जीपीएस ट्रैकिंग पर प्रशिक्षण कार्यक्रम 17 अप्रैल को मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के कार्यालय में आयोजित किया जाएगा। वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय कुमार चौबे और डॉ मनीष रंजन भी मौजूद थे। उन्होंने बताया कि स्वतंत्र, निष्पक्ष और पारदर्शी चुनाव कराने के लिए कई कदम उठाए जा रहे हैं। इस संदर्भ में महत्वपूर्ण और संवेदनशील मतदान केंद्रों वेब कास्टिंग के माध्यम से मतदान प्रक्रिया पर नजर रखी जाएगी। वेब कास्टिंग के जरिए मतदान केंद्र के पल-पल के गतिविधियों की जानकारी मिलेगी। उन्होंने आयुक्तों और जिला निर्वाचन पदाधिकारियों को इस दिशा में आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया, ताकि मतदान के दिन वेब कास्टिंग की प्रक्रिया सुचारू रुप से संचालित किया जा सके। खियांग्ते ने कहा कि दृष्टिबाधित मतदाताओं को ब्रेल लिपि में डमी बैलेट शीट और वोटर्स गाइड का मुद्रण कराकर हर मतदान केंद्र पर उपलब्ध कराया जाना जिला निर्वाचन पदाधिकारी सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि मतदान केंद्र पर आने वाले दृष्टिबाधित मतदाताओं को इस डमी बैलेट शीट के माध्यम से मतदान की प्रक्रिया से भी अवगत कराया जाना है, ताकि वे भली-भांति अपने मत का इस्तेमाल कर सकें। खियांग्ते ने कहा कि लोकसभा निर्वाचन-2019 को लेकर मतदाताओं को उनके घर में वोटर स्लिप उपलब्ध कराया जाना है। इसकी जिम्मेदारी बीएलओ को दी गई है। उन्होंने सभी जिला निर्वाचन पदाधिकारी को कहा कि मतदाताओं को उनके घर पर वोटर स्लिप ससमय उपलब्ध हो, इसका वे अनुपालन सुनिश्चित करेंगे। खियांग्ते ने सभी जिला निर्वाचन पदाधिकारियों को कहा कि मतदान के मद्देनजर चुनाव के लिए प्रतिनियुक्त किए गए मैनपावर के साथ ही सुदूर और दुर्गम इलाके में स्थित मतदान केंद्रों के लिए प्रतिनियुक्त किए गए चुनाव कर्मियों को आवागमन में किसी तरह की परेशानी नहीं हो। इस बाबत स्थानीय प्रशासन और थाने के साथ संपर्क बनाकर रूट चार्ट वैरीफिकेशन को भी सुनिश्चित कर लिया जाए। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने मतदान कर्मियों को चुनाव ड्यूटी के लिए डिस्पैच करने के समय दी जानेवाली सामग्रियों के संबंध में की जा रही तैयारियों की भी समीक्षा की। खियांग्ते ने निष्पक्ष एंव शांतिपूर्ण चुनाव कराने को लेकर की जा रही तैयारियों के सिलसिले में लॉ एंड ऑर्डर के लिए की जा रही व्यवस्थाओं की जानकारी ली। उन्होंने निवारक निरोध अधिनियम के तहत की गई कार्रवाई और गैर जमानती वारंटों के निष्पादन की समीक्षा कर जिला निर्वाचन पदाधिकारियों से इसकी पूरी जानकारी ली। उन्होंने चुनाव के सिलसिले में लाइसेंसी हथियारों के जमा किए जाने के मामले की भी जानकारी ली। खियांग्ते ने कहा कि लोकसभा निर्वाचन को लेकर प्रत्याशियों और राजनीतिक दलों के लिए दिन-प्रतिदिन के चुनावी खर्च का लेखा-जोखा रखा जाना अनिवार्य है। एसे में चुनाव खर्चे से संबंधित व्यय का संधारण करने के सिलसिले में जिलास्तर पर राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों और प्रत्याशियों के लिए कार्यशाला आयोजित करने का निर्देश जिला निर्वाचन पदाधिकारियों को दिया गया। खियांग्ते ने बताया कि राजनीतिक दलों, अभ्यर्थियों को आमसभा, रैली और हेलीकॉप्टर के इस्तेमाल को लेकर सुविधा एप्प के माध्यम से आवेदन देना है। एसे में सुविधा एप्प पर प्राप्त होनेवाले आवेदनों का निष्पादन त्वरित एवं पारदर्शी तरीके से पूरा किया जाए। उन्होंने जिला निर्वाचन पदाधिकारियों को कहा कि सुविधा पर प्राप्त होने वाले आवेदनों का निष्पादन निर्वाचन आय़ोग द्वारा दिए गए निर्देशों के तहत सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि लोकसभा निर्वाचन-2019 में आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायतों को दर्ज कराने के लिए सी-विजिल एप्प लांच किया गया है। इस एप्प के माध्यम से कोई भी व्यक्ति आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत दर्ज करा सकता है। इस एप्प का ज्यादा से ज्यादा लोग इस्तेमाल करें, इसके लिए उन्हें जागरूक किया जाना जरूरी है। हिन्दुस्थान समाचार/विनय/कृष्ण/महेश
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image