Hindusthan Samachar
Banner 2 गुरुवार, अप्रैल 25, 2019 | समय 14:09 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

आय-व्यय के लिए चुनाव से संबंधित बैंक खाते और रजिस्टर का संधारन करें राजनीतिक दलः जिला निर्वाचन पदाधिकारी

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 12 2019 9:20PM
आय-व्यय के लिए चुनाव से संबंधित बैंक खाते और रजिस्टर का संधारन करें राजनीतिक दलः जिला निर्वाचन पदाधिकारी
मेदिनीनगर, 12 अप्रैल (हि.स.)। लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह उपायुक्त डॉ0 शांतनु कुमार अग्रहरि ने राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की। समाहरणालय सभागार में आयोजित बैठक के दौरान चुनाव पर्यवेक्षक डीजे जडेजा भी थे। जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को आय-व्यय के लिए चुनाव से संबंधित बैंक खाते का इस्तेमाल करने और आय-व्यय से संबंधित रजिस्टर का संधारन करने को कहा। साथ ही पार्टी/दलों के प्रतिनिधियों द्वारा समस्याओं से संबंधित सवालों का जवाब दिया और उनके मन में उठ रही जिज्ञासाओं को शांत किया। जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा कि ईवीएम का स्ट्रॉंग रूम विधानसभावार बनाया गया है। जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि जिन प्रत्याशियों पर आपराधिक मामले चल रहे हैं, उन्हें तीन दिनों तक अपराध से संबंधित विवरण समाचार पत्र और समाचार चैनल में प्रकाशित और प्रसारित कराना अनिवार्य है। इसका अनुपालन हर हाल में करनी होगी। प्रकाशित व प्रसारित समाचार की प्रति भी जमा करनी होगी। खर्च का ब्योरा रखने में असपफल होने पर होगी कानूनी कार्रवाई ।चुनाव को लेकर प्रत्याशियों को अलग से बैंक एकाउंट खोले गये हैं। चुनाव में होनी वाली खर्च और आय संबंधित बैंठक खाते से होनी चाहिए। जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने सभी को बताया कि खर्च का ब्योरा रखने में असफल होने पर प्रत्याशी को छह वर्ष के लिए चुनाव लड़ने पर प्रतिबंध लग सकता है। साथ ही लोक प्रतिनिधित्व की धारा के तहत कानूनी कार्रवाई भी होगी। चुनाव आयोग द्वारा 70 लाख रूपये तक के लिमिटेशन रखा गया है, उसका हर हाल में अनुपालन होना चाहिए। प्रत्याशियों को आय-व्यय से संबंधित एक रजिस्टर भी रखनी है, जिसमें सभी ब्योरा अंकित करना होगा। इन रजिस्टरों की जांच 17, 22 और 26 अप्रैल को होना सुनिश्चित हुआ है। प्रत्येक मतदान केंद्र को तंबाकू मुक्त क्षेत्र घोषित किया गया है, इसके अंतिर्गत मतदान केंद्रों पर धूम्रपान के साथ बीड़ी सिगरेट, गटखा, तंबाकू आदि के इस्तेमाल पर पूरी रतह से प्रतिबंध लगाया गया है। राजनीतिक पार्टी/दल सुनिश्चित करें कि उनके बूथ एजेंट उक्त चीजों का सेवन नहीं करें और न ही बूथ पर इन सब चीजों को रखें। चुनाव प्रचार में इस्तेमाल किए जा रहे वाहनों के लिए अनुमति जिला निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय से लेनी होगी। इसके लिए वाहन का रजिस्ट्रेशन सहित अन्य आवश्यक कागजात होना जरूरी होगा। जबकि चुनाव प्रचार, सभा, रैली, रोड शो, जनसंपर्क अभियान, बैठक आदि के लिए सहायक निर्वाची पदाधिकारी से अनुमति लेनी होगी। बिना अनुमति उक्त कार्य किए जाने पर कानूनी कार्रवाई की जायेगी। सभी प्रचार वाहनों पर साउंड सिस्टम नहीं लगाया जा सकेगा। मतदाता पर्ची मतदान के लिए आईडी प्नूफ नहीं होगा। इसके लिए मतदाताओं को मतदाता पहचान पत्र साथ रखना होगा। मतदाता पहचान पत्र नहीं होने की स्थिति में पास्पोर्ट, पैन कार्ड आदि 11 तरह के दस्तावेज कार्य करेंगे। प्रत्याषी अगर किसी निजी व्यक्ति के घरों पर बैनर पोस्टर लगाते हैं, तो उसके लिए संबंधित व्यक्ति से अनुमति लेनी होगी। सरकारी भवनों पर बैनर-पोस्टर नहीं लगाये जा सकेंगे। हिन्दुस्थान समाचार/संजय/विनय
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image