Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, अप्रैल 21, 2019 | समय 03:52 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

टिकट नहीं मिलने पर ददई के दिल में धधक रही है आग

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 12 2019 7:49PM
टिकट नहीं मिलने पर ददई के दिल में धधक रही है आग
बोकारो, 12 अप्रैल ( हि.स.)। धनबाद लोकसभा क्षेत्र से कभी सांसद रह चुके कद्दावर कांग्रेस नेता चन्द्रशेखर दुबे उर्फ ददई दुबे को इस बार पार्टी से टिकट मिलने का पूरा भरोसा था। उन्हें यकीन था कि इस चुनाव में उन्हें हर हाल में टिकट मिलेगा और वह अपने अधूरे सपने को साकार कर सकेंगे लेकिन ऐन वक्त पर गेंद हाल ही में भाजपा से बगावत कर कांग्रेसी दामन थामने वाले कीर्ति आजाद के पाले में चली गई। इस बात को लेकर ददई खुलकर तो कुछ नहीं कर रहे, लेकिन उनकी बातों से साफ जाहिर होता है कि कहीं ना कहीं टिकट नहीं मिल पाने का उन्हें काफी दुख है, जिसे वह जताना तो नहीं चाह रहे लेकिन व्यथा निकल ही जा रही है। शुक्रवार को बातचीत के दौरान ददई दुबे ने कीर्ति आजाद को टिकट मिलने पर ऊपरी मन से भले ही संतोष जताया और कांग्रेस होने के नाते उनका साथ देने की बात कही लेकिन लगे हाथों अपनी नाराजगी भी जाहिर कर डाली। उन्होंने साफ-साफ शब्दों में कहा कि उन्हें इस बात की कोई उम्मीद ही नहीं थी कि इस बार उन्हें टिकट नहीं मिलेगा। एक साल पहले कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह ने उन्हें दिल्ली बुलाकर चुनाव की तैयारियों में लग जाने को कहा था। उन्होंने यह भी कहा था कि इस बार राहुल गांधी की इच्छा है कि वह धनबाद लोकसभा क्षेत्र से लड़ें। इसी सोच के तहत हमेशा की तरह वह धनबाद में वह जनता की सेवा में लगे रहे। उसी टिकट की प्रत्याशा में काफी दिनों दिल्ली में थे। जनता भी काफी खुश थी। हर वर्ग के लोग वोट देने के लिए तैयार थे, लेकिन ऐन वक्त पर उन्हें टिकट नहीं मिला। चुनाव की कर रखी थी पूरी तैयारी एक सवाल के जवाब में ददई ने कहा कि उन्होंने चुनाव की पूरी तैयारी कर रखी थी। पूरे धनबाद लोकसभा क्षेत्र में गांव-गांव में तैयारी थी। बूथ लिस्ट तक तैयार हो चुकी थी। कार्यकर्ता बूथवार तैयारी में जुट भी गये थे। चुनाव की कोई भी प्रक्रिया ऐसी नहीं थी, जो नहीं हुई हुई थी। मैं 40 साल से, उनका महीना भर भी नहीं ददई ने कहा, “मैं 40 साल से कांग्रेस पार्टी से जुड़ा हूं और उनको शामिल हुए अभी एक महीना भी नहीं हुआ है, उनको टिकट दे दिया गया। मुझे नहीं मिला, जबकि मैं यहीं रहता हूं। जनता मेरे लिए भगवान है। मैं बात करके क्या कहूंगा, मेरा चेहरा देखिए। मेरे दिल से जो आवाज आ रही है, उसे देखिए और खुद समझ जाइए, लेकिन अब इससे कोई लाभ मिलने वाला नहीं है। यह चुनाव मेरा बहुत ही महत्वपूर्ण चुनाव था। बहुत हमारे पुराने सपने थे, जिनको साकार करने के लिए मैं खड़ा हो रहा था। हमारे नौजवान कार्यकर्ता बहुत कुछ करना चाह रहे थे। जनता के लिए मैं नहीं कर सका, इसके लिए मुझे मलाल और अफसोस है।” आलाकमान के आदेश का करेंगे पालन ददई ने एक अन्य सवाल के जवाब में कहा, “आलाकमान की जो इच्छा है, उसका हम लोग पालन करेंगे। चाहे किसी को टिकट मिले, उसी को सपोर्ट करेंगे। कांग्रेस पार्टी के हम हैं। कांग्रेस पार्टी हमारे लिए सब कुछ है। इसलिए कांग्रेस पार्टी को जिताना है और उसके लिए जो कुछ भी करना होगा, पार्टी के आदेश के अनुरूप हम करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें गद्दी का कोई लोभ-मोह नहीं रहा। मुखिया से लेकर सांसद व मंत्री तक सफर वह कर चुके हैं, इसलिए इस बात की तकलीफ नहीं है।” कीर्ति को पिलायी बिना चीनी की चाय दुबे ने कहा कि कीर्ति आजाद के साथ उनकी सौहार्दपूर्ण वार्ता हुई है। औपचारिकता के तहत और अपने संस्कारवश उन्होंने कीर्ति आजाद का अपने यहां स्वागत किया। उन्हें चाय-ठंडा के लिए पूछा, लेकिन उन्होंने आधा कप बिना चीनी की चाय पी। इस दौरान उन्हें आशीर्वाद दिया और जिताने का भरोसा दिलाया। हिन्दुस्थान समाचार/दीपक/वंदना/दधिबल
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image