Hindusthan Samachar
Banner 2 शुक्रवार, अप्रैल 26, 2019 | समय 09:11 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

परता गांव के ग्रामीणों ने वोट बहिष्कार का लिया निर्णय

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 11 2019 6:06PM
परता गांव के ग्रामीणों ने वोट बहिष्कार का लिया निर्णय
70 साल में एक बांध का भी मुकम्मल निर्माण नहीं होने से ग्रामीणों में आक्रोश मेदिनीनगर, 11 अप्रैल (हि.स.)। पलामू जिला के हैदरनगर प्रखंड अंतर्गत परता गांव के ग्रामीणों ने प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री समेत अधिकारियों को पत्र लिखकर वोट का बहिष्कार करने का निर्णय लिया है। उन्होंने पत्र में लिखा है कि सदाबह नदी जिसे मुरही नाला के नाम से जाना जाता है। उक्त नदी पर मुकम्मल बांध का निर्माण होने से करीब 500 एकड़ भूमि में सिंचाई हो सकती थी। मगर अबतक उक्त स्थल पर बांध के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति की गई। छोटा बांध बनाया जाता है, जो पानी के दबाव में टूट जाता है। दर्जनों बार ग्रामीणों ने चंदा कर व श्रमदान कर बांध का निर्माण कराया। वर्तमान सांसद बी डी राम को भी मुरही नाला पर बांध निर्माण के लिए पत्र दिया गया था। सांसद का आदेश इस कार्यालय से उस कार्यालय घूमता रहा। अबतक कुछ भी नहीं हो सका है। पंचायत स्तर से उक्त बांध को बनाना असंभव है। बावजूद इसके फर्जी ग्राम सभा कर बांध निर्माण का प्रस्ताव लिया गया। इस संबंध में मुख्यमंत्री समेत विभिन्न अधिकारियों को ग्रामीणों ने पत्र लिखा है। इस दिशा में कोई कार्रवाई नहीं की गई। ग्रामीणों ने पत्र में लिखा है कि उन्हें वर्तमान सरकार से काफी उम्मीद थी। उन्हें उम्मीद थी की इस सरकार में जनता की आवाज सुनी जायेगी। मगर यहां से भी निराशा ही हाथ लगी। उन्होंने लिखा है कि अब जनता विश्वास किस पर करे और क्यों करें? इस लिए उन्होंने वोट बहिष्कार का निर्णय लिया है। जिसकी पूरी जवाबदेही जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों की है। पत्र पर हस्ताक्षर करने वालों में पपु पाण्डेय, विश्वनाथ पांडेय, शंकर पाण्डेय, नरसिंह देव पांडेय, रमेश पांडेय, यश दुबे, सोना देवी, मोहित कुमार पांडेय, बालमिकी पांडेय, सुशील कुमार पांडेय, अजीत पासवान, कृष्णकांत पांडेय, कमल किशोर पासवान समेत 56 ग्रामीणों के हस्ताक्षर हैं। हिन्दुस्थान समाचार/संजय/विनय
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image