Hindusthan Samachar
Banner 2 शुक्रवार, अप्रैल 26, 2019 | समय 09:47 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

गजना माता की पूजा से पूरी होती हैं मनन्तें

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 10 2019 8:01PM
गजना माता की पूजा से पूरी होती हैं मनन्तें
मेदिनीनगर, 10 अप्रैल (हि.स.)। अनुमंडल मुख्यालय से 12 कि०मी० दूर बिहार-झारखण्ड सीमा पर अवस्थित गजना धाम मंदिर में पूजा-अर्चना करने से भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। सासाराम निवासी रविन्द्र गुप्ता एवं मंजू देवी ने बताया कि पूर्व में बेटे की शादी का मन्नत माँगी थी जो पूरा होने पर पुनः कड़ाही चढ़ाने आया हूँ। उनके साथ उनका पूरा परिवार भी था, परिवार के सदस्य भी कड़ाही चढ़ाये। गजनाधाम न्यास समिति की ओर से बच्चों के लिये एक विद्यालय माँ बाल विकास सह शैक्षणिक संस्थान चलाई जाती है जिसमें नर्सरी से अष्टम तक पढ़ाई होती है। विद्यालय में 225 बच्चें नामांकित है। प्रधानाचार्य उमाशंकर वर्मा, रामनिवास सिंह, नकुल कु० सिंह, रंजीत कु० गुप्ता, सोनी कुमारी, रेणुका कुमारी, अन्नी कुमारी शिक्षिका हैं। न्यास समिति द्वारा मंदिर के विकास हेतु सहयोग राशि निर्धारित है जिसमें कढ़ाही, मुण्डन, चुनरी-10 रु०, कथा- 20 रु०, छोटी गाड़ी- 50 रु०, बड़ी गाड़ी- 100 रु०, विवाह सम्पन्न कराने के लिये वर पक्ष से 350 रु० जबकि कन्या पक्ष से 300 रु० एवं भाड़ा पर कमरा का 300 रु० शुल्क लिया जाता है। न्यास समिति में अध्यक्ष श्री श्री 108 अवध बिहारी दास, सचिव सिद्धेश्वर विद्यार्थी, कोषाध्यक्ष डॉ नरेश मेहता, मिथिलेश कु० सिंह, सत्यनारायण सिंह उर्फ सतन बाबा, अरुण मेहता, कर्मदेव राजवंशी, रामप्रवेश सिंह, अभय कु० सिंह की सक्रिय भागीदारी से मंदिर का विकास दिन-प्रतिदिन हो रहा है। मंदिर के मुख्य पुजारी जग्रन्नाथ मिश्रा व पुजारी अयोध्या पाण्डेय हैं। मुख्य पुजारी श्री मिश्रा ने बताया कि गजना धाम मन्दिर में भक्तों की आस्था दिन-प्रतिदिन बढ़ रही है। यहाँ पूजा-अर्चना करने झारखण्ड, बिहार के अलावे उड़ीसा, मध्य प्रदेश व छत्तीसगढ़ से से भी भक्त आते हैं। कार्तिक पूर्णिमा पर यहाँ हजारों भक्त जुटते हैं। हिन्दुस्थान समाचार/संजय/विनय
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image