Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, अप्रैल 21, 2019 | समय 04:12 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

मुंडा बनाम मुंडा के बीच होगा रोचक मुकाबला

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 9 2019 7:34PM
मुंडा बनाम मुंडा के बीच होगा रोचक मुकाबला
खूंटी, 09 अप्रैल (हि.स.) । कांग्रेस ने अंततः पूर्व विधायक और राज्य के ग्रामीण विकास मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा के बड़े भाई काली चरण मुंडा को टिकट देकर खूंटी संसदीय सीट में चुनावी मुकाबले को रोचक बना दिया है। उनका सीधा मुकाबला भाजपा प्रत्याशी राज्य कें पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा से होना तय है। इसके पहले भी 2014 काली चरण मुंडा खूंटी संसदीय सीट से कांग्रेस के टिकट पर भाग्य आजमा चुके हैं। हालांकि उन्हें हार का मुंह देखना पड़ा था। काली चरण मुंडा तमाड़ से विधायक रह चुके हैं। उनके पिता स्व टी मुचीराय मुंडा भी कई बार बिहार सरकार में मंत्री रहे थे। भाजपा के मुंडा बनाम कांग्रेस के मुंडा के बीच होने वाले चुनावी मुकाबले मेें जीत का झंडा किसके पास जाता है, यह देखना काफी दिलचस्प हो गया। 2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी कालीचरण मुंडा तीसरे स्थान से आगे नहीं बढ़ पाये। इस बार भी कांग्रेस ने काली चरण ही भरोसा जताया है। जानकार कहते हैं कि अर्जुन मुंडा और काली चरण मुंडा दोनों ही सरना समाज से आते हैं। ऐसी स्थिति में इस बात की कम ही संभावना है कि सरना मत किसी खास दल के पक्ष में जाये। स्थानीय राजनीति में पकड़ रखने वाले कुछ लोगों का तर्क है कि इस बार अलपसंख्यकों के वोट का झुकाव कांग्रेस उम्मीदवार के पक्ष में हो और इसका लाभ कांग्रेस को मिल सकता है। इसके अलावा काली चरण को झामुमो का भी समर्थन है, लेकिन इतना तय है कि सेंगेल पार्टी, झारखंड पार्टी सहित अन्य दल भी लोकसभा चुनाव में अपने प्रत्याशी उतारेंगे, जो कांग्रेस का खेल बिगाड़ सकते हैं। अनुसूचित जनजातियों के लिए खूंटी संसदीय सीट यूं तो भाजपा का गढ़ माना जाता है। आजादी के बाद अब तक हुए 16 लोकसभा चुनावों में आठ बार वर्तमान सांसद कड़िया मुंडा जीत हासिल कर चुके हैं। अब देखना है कि अर्जुन मुंडा भाजपा की जीत के सिलसिले को बरकरार रख पाते हैं या कांग्रेस 2004 के इतिहास को दुहरा पायेगी। हिन्दुस्थान समाचार/अनिल/वंदना/विनय
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image