Hindusthan Samachar
Banner 2 गुरुवार, अप्रैल 25, 2019 | समय 07:46 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

प्रकृति पर्व सरहुल धूमधाम से मनाया गया, सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 8 2019 9:09PM
प्रकृति पर्व सरहुल धूमधाम से  मनाया गया, सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम
रांची,08 अप्रैल (हि.स.)। झारखंड में प्रकृति पर्व सरहुल धूमधाम से सोमवार को मनाया गया। राजधानी रांची के हर सड़क पर दोपहर बाद जुलूस निकाला गया। इस दौरान युवक और युवतियों ने आदिवासी पारंपरिक नृत्य का प्रदर्शन करते हुए सिरम टोली चौक पहुंचे। इस दौरान लोग जमकर थिरके इसे देखते हुए दोपहर बाद से रांची के विभिन्न बिजली सब स्टेशनों से बिजली आपूर्ति बाधित कर दी गई। जो कि जुलूस में बड़ी-बड़ी झांकियां और बड़े-बड़े साउंड सिस्टम शामिल थे। इस कारण जुलूस वापसी तक बिजली बंद रही। स्थानीय थाना के क्लीयरेंस के बाद संबंधित क्षेत्रों की बिजली बहाल की गयी। सोमवार को हातमा के मुख्य पाहन जगलाल ने सरहुल की पूजा के दौरान घड़े के पानी को देखकर भविष्यवाणी की कि इस साल पिछले साल के मुकाबले अच्छी बारिश होगी। इससे अच्छी खेती की भी संभावना है। सरहुल पूर्व संध्या पर रविवार को मुख्य पूजा स्थल हातमा में मुख्य पाहन जगलाल ने घड़े में जल भराई की थी। सोमवार को पूजा के दौरान घड़े के पानी को देख आदिवासी परंपरा के अनुसार इस वर्ष बारिश की भविष्यवाणी की। राजधानी रांची के अल्बर्ट एक्का चौक पर सबसे पहले शोभा यात्रा 3:50 मिनट पर पहुंची। स्कूल ड्रेस में बच्चियां हाथों को जोड़ें पारंपरिक नृत्य कर रही थी। उसके पीछे लाल बाढ़ की साड़ी पहने युवतियां मौजूद थी एक आदमी अपने कंधे पर एक छोटा सा बंदर लेकर घूम रहा था। नगाड़ों, मांडर और साउंड सिस्टम की आवाज से पूरा वातावरण गूंज रहा था। इधर शोभा यात्रा पहुंचने का सिलसिला जारी रहा। बारह पहड़ा सरहुल पूजा समिति का कांके के युवक सफेद गंजी और पीली पगड़ी में नृत्य करते दिख रहे थे। नवीन शर्मा कॉलेज छात्रावास हरमू के युवा गुलाबी पगड़ी और सफेद गंजी में थे। सरना जागृति छात्रावास चाला नगर के युवा हरी पगड़ी और सफेद गंजी में थे। 22 पहड़ा सरना समिति की शोभा यात्रा में तीर धनुष लेकर एक व्यक्ति शामिल था । शोभा यात्रा के दौरान सेना के शौर्य का प्रदर्शन भी देखा नेताओं के नाम बॉर्डर पर जाकर सेवा देने की अपील भी दिखी। सड़क पर अलग अलग सामाजिक संगठनों की ओर से चना,शरबत और लस्सी का भी वितरण किया जा रहा था। सरहुल को लेकर राजधानी रांची में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। एसएसपी अनीश गुप्ता सुरक्षा की मॉनिटरिंग कर रहे थे। चौक चौराहे पर सुरक्षा बलों की तैनाती की गई थी। शोभा यात्रा को लेकर सुरक्षा के लिहाज से कई सड़कों पर वाहनों का परिचालन बंद कर दिया गया था। लगभग 1500 से अधिक जवानों के अलावा पुलिस अधिकारी और मजिस्ट्रेट की भी तैनाती की गई थी जुलूस में विधि व्यवस्था की निगरानी ड्रोन कैमरे और सीसीटीवी कैमरे के जरिए की जा रही थी असामाजिक तत्वों की निगरानी के लिए अलग से सादे लिबास में जवान को तैनात किए गए थे। झारखंड पुलिस के प्रवक्ता मुरारी लाल मीणा से संपर्क करने पर उन्होंने बताया कि पूरे राज्य में शांतिपूर्वक सरहुल पर्व मनाया गया। कहीं भी कोई अप्रिय घटना की सूचना अब तक नहीं है। हिन्दुस्थान समाचार/ विकास/वंदना/विनय
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image