Hindusthan Samachar
Banner 2 शुक्रवार, अप्रैल 26, 2019 | समय 09:47 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

सरहुल के दिन रांची के एमजी रोड में दोपहर एक बजे से शोभायात्रा की समाप्ति तक निजी वाहनों का प्रवेश बंद

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 7 2019 4:39PM
सरहुल के दिन रांची के एमजी रोड में दोपहर एक बजे से शोभायात्रा की समाप्ति तक निजी वाहनों का प्रवेश बंद
वाहनों का परिचालन नियंत्रित करने के लिए शहर में कई स्थानों पर बनाये जायेंगे ड्रॉप गेट रांची, 7 अप्रैल (हि.स.)। प्रकृति पर्व सरहुल 8 अप्रैल को है। सरहुल की शोभायात्रा में बड़ी संख्या में लोग शामिल होते हैं। इस दौरान राजधानी में यातायात व्यवस्था सामान्य बनी रहे, इसे लेकर जिला प्रशासन और पुलिस ने तैयारी पूरी कर ली है। सोमवार को दोपहर एक बजे से शोभायात्रा की समाप्ति तक महात्मा गांधी रोड (मेन रोड) में निजी वाहनों के प्रवेश बंद रहेंगे। इसके साथ ही एसएसपी आवास से रेडियम चौक, शहीद चौक, अलबर्ट एक्का चौक, काली मंदिर चौक, रतन टॉकिज चौक, सुजाता चौक, मुंडा चौक से सिरमटोली सरना स्थल तक वाहनों का परिचालन पूरी तरह बंद रहेगा। कचहरी के समीप स्टेट बैंक से रेडियम चौक तक वाहनों का परिचालन बंद रहेगा। सर्कुलर रोड से आनेवाले वाहन जेल चौक तक ही पहुंच पायेंगे। राजेंद्र चौक से ओवरब्रिज, सुजाता चौक की ओर किसी भी प्रकार के वाहनों का परिचालन नहीं होगा। कांटाटोली से वाहनों का परिचालन बहू बाजार तक ही होगा। इसके बाद वाहन आगे चुटिया थाना मार्ग से आगे जायेंगे। बहू बाजार से मुंडा चौक सिरमटोली चौक सरना स्थल तक वाहनों का परिचालन बंद रहेगा। इसके अलावा शहर में वाहनों का परिचालन नियंत्रित करने के लिए कई स्थानों पर ड्रॉपगेट भी बनाये जायेंगे। इसमें कचहरी चौक, आयुक्त कार्यालय के पास, शहीद चौक, चडरी के समीप, थड़पखना वाले मार्ग पर, सर्जना चौक, काली मंदिर सहित विभिन्न मार्गों पर ड्रॉप गेट बनाये जायेंगे। शोभायात्रा की श्रेष्ठ झांकियां होंगी पुरस्कृत, दिये जायेंगे मांदर, ढाक और नगाड़ा सरहुल शोभायात्रा में हरमू सरना समिति, अरगोड़ा सरना समिति, सरना आदिवासी लोहरा समाज, पीपर टोली, मधुकम सरना समिति, डिबडीह सरना समिति और लोवाडीह सरना समिति की ओर से झांकी निकाली जायेगी। इसके माध्यम से पारंपरिक वेशभूषा के साथ ही जल, जंगल, जमीन के साथ ही पर्यावरण की रक्षा के संदेश दिये जायेंगे। इसके साथ ही आकर्षक झांकियों और सबसे पहले सिरम टोली पहुंचने वाले जुलूसों को प्रथम, द्वितीय और तृतीय पुरस्कार दिये जायेंगे। पुरस्कार के रूप में मांदर, ढाक और नगाड़ा आदि दिये जायेंगे। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव/ संजीव
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image