Hindusthan Samachar
Banner 2 शुक्रवार, अप्रैल 26, 2019 | समय 09:37 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

स्वयं सहायता समूह ने फर्जीवाड़ा कर ऋण राशि झटका

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 5 2019 7:33PM
स्वयं सहायता समूह ने फर्जीवाड़ा कर ऋण राशि झटका
मेदिनीनगर, 5 अप्रैल (हि.स.) । हुसैनाबाद प्रखंड के बुधुआ गांव की लक्ष्मी स्वयं सहायता समूह की संचालिका द्वारा फर्जी तरीके से वनांचल ग्रामीण बैंक की दंगवार शाखा से दो लाख रुपये झटक लेने का मामला प्रकाश में आया है। समूह की आधा दर्जन महिला सदस्यों ने पलामू के उपायुक्त को एक शिकायत पत्र लिखकर लक्ष्मी स्वयं सहायता समूह जिसकी अनुज्ञप्ति संख्या 46/2009 है ,को अविलंब रद्द करने की मांग की है। पत्र में कहा गया है कि समूह के सदस्यों को उक्त फर्जीवाड़े का पता तब चला, जब वनांचल ग्रामीण बैंक की दंगवार शाखा से ऋण वसूली का उन्हें नोटिस दिया गया। नोटिस मिलते ही समूह की सदस्य प्रभा देवी, लगनी देवी, संगीता देवी, रामसति देवी, संझरिया देवी एवं लक्ष्मी देवी के होश उड़ गये कि जब उनलोगों ने लोन लिया ही नहीं है तब वसूली कैसी। तत्काल इन महिला सदस्यों ने बैंक के शाखा प्रबंधक को एक आवेदन देकर जालसाजी कर लोन लिए जाने की पूरी जानकारी मांगी। तब शाखा प्रबंधक ने लिखित जानकारी दी कि लक्ष्मी महिला स्वयं सहायता समूह, बुधुआ के नाम पर विगत 28 मार्च 2011 को दो लाख रुपये ऋण दिया गया है जिसका खाता नंबर 14253026856 है। समूह के सदस्यों में एक बेबी देवी पति संजय सिंह बिहार की है। जबकि लगनी देवी एवं पानो देवी दूसरे गांव घोड़बंधा की हैं। जनवरी 2019 में ऋण वसूली की नोटिस मिलने के बाद एक सदस्य प्रभा देवी का आरोप है कि जब वह समूह की संचालिका मीना देवी पति ललित सिंह से इस संबंध में 12 फरवरी 2019 को प्रभा देवी ने जिला आपूर्ति पदाधिकारी को पत्र देकर समूह का लाइसेंस नंबर 46/2009 को तत्काल रद्द करने की मांग की। इस आवेदन के आलोक में हुसैनाबाद के बीडीओ सह प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी ने बुधुआ जाकर पूरे प्रकरण की जांच की तो मामला सत्य पाया। कोई भी पंजी संचालिका द्वारा नहीं दिखाया गया तथा गांव की लाभुक महिलाओं ने कभी भी नियमित रूप से समय पर एवं उचित मात्रा में राशन नहीं दिये जाने की शिकायत की। हिन्दुस्थान समाचार/संजय/विनय
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image