Hindusthan Samachar
Banner 2 शुक्रवार, अप्रैल 26, 2019 | समय 09:51 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

मार्केट कैप में 2.43 लाख करोड़ रुपये की कमी

By HindusthanSamachar | Publish Date: Jan 27 2019 2:33PM
मार्केट कैप में 2.43 लाख करोड़ रुपये की कमी

राधेश्याम

मुंबई, 27 जनवरी (हि.स.)। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) में पिछले सप्ताह में आई गिरावट का असर बाजार हैसियत पर भी पड़ा है। बीएसई में पिछले सप्ताह के आखिरी दिन मार्केट कैपिटलाइजेशन 140.80 लाख करोड़ रुपये रहा था।

पिछले सप्ताह बाजार कैपिटलाइजेशन 143.23 लाख करोड़ रुपये रहा था। एक सप्ताह के भीतर मार्केट कैप में कुल 2.43 लाख करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ा है। इसके अलावा विदेशी संस्थागत निवेशकों ने पिछले सप्ताह के दौरान कुल 1,248.59 करोड़ रुपये की शुद्ध बिकवाली करते हुए भारी मुनाफा काटा। हालांकि घरेलू संस्थागत निवेशकों ने इस दौरान 1,410.38 करोड़ रुपये की शुद्ध खरीदारी करते हुए निवेश किया। पिछले कारोबारी सप्ताह के दौरान करेंसी डेरिवेटिव्स सेगमेंट में हल्की सी बढ़ोतरी देखने को मिली है।

कारोबारी सप्ताह के दौरान करेंसी मार्केट में कुल 1,29,988.85 करोड़ रुपये का कारोबार हुआ। सप्ताह के पहहले दिन सोमवार (21 जनवरी) करेंसी मार्केट में सर्वाधिक 27,318.57 करोड़ रुपये का कारोबार हुआ था, जबकि शुक्रवार को करेंसी डेरिवेटिव्स सेगमेंट में कुल 25,700.92 करोड़ रुपये का कारोबार हुआ था। शुक्रवार को बाजार के कैश सेगमेंट में कुल 2,952.35 करोड रुपये का टर्नओवर रहा था।

कारोबारी सप्ताह के दौरान बीएसई और एनएसई पर संयुक्त तौर पर विदेशी संस्थागत निवेशकों ने 16,864.08 करोड़ रुपये की खरीदारी की, जबकि 18,112.67 करोड़ रुपये के शेयरों की बिकवाली की। घरेलू संस्थागत निवेशकों ने नए साल में अब तक बाजार से मुनाफा कमाने पर ही जोर दिया है। घरेलू संस्थागत निवेशकों ने सप्ताह के दौरान कुल 12,693.84 करोड़ रुपये के शेयरों की खरीदारी की है, जबकि 11,283.46 करोड़ रुपये के शेयरों की बिकवाली कर बाजार में निवेश पर जोर दिया। इस प्रकार सप्ताह के दौरान विदेशी संस्थागत निवेशकों ने जहां 1,248.59 करोड़ रुपये की शुद्ध बिकवाली की है, तो वहीं घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 1,410.38 करोड़ रुपये की शुद्ध खरीदारी की है।

कारोबारी सप्ताह के दौरान बी ग्रुप की 167 कंपनियों में से 119 कंपनियों पर नीचे का सर्किट लगा था, जबकि 48 कंपनियों पर ऊपर का सर्किट ब्रेकर लगा था। कारोबारी सप्ताह के दौरान बीएसई 100 की 29 कंपनियों के भाव में बढ़त रही, जबकि 72 कंपनियों के भाव में कमी आई। इसी तरह, बीएसई 200 की 47 कंपनियों में बढ़त रही, तो 154 कंपनियों को घाटा सहना प़ड़ा। बीएसई 30 की 9 कंपनियों में बढ़त रही, तो 22 कंपनियों के शेयर्स में गिरावट देखी गई। बीएसई 500 में 88 कंपनियां बढ़त के साथ कारोबार कर रही थीं, तो वहीं 411 कंपनियों को घाटा उठाना पड़़ा। इसके अलावा, मिडकैप की 17 कंपनियों में बढ़त रही, तो वहीं 87 कंपनियों को घाटा उठाना पड़ा। स्मॉलकैप सूचकांक में 99 कंपनियों में बढ़ोतरी रही, 750 कंपनियों में घाटा उठाना पड़ा।

हिन्दुस्थान समाचार

लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image