Hindusthan Samachar
Banner 2 गुरुवार, अप्रैल 25, 2019 | समय 17:48 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

एमएससीआई इमर्जिंग मार्केट इंडेक्स में फिसल सकता है भारत

By HindusthanSamachar | Publish Date: Mar 5 2019 12:40PM
एमएससीआई इमर्जिंग मार्केट इंडेक्स में फिसल सकता है भारत

राधेश्याम

मुंबई, 05 मार्च (हि.स.)। एमएससीआई इमर्जिंग मार्केट इंडेक्स में भारत की मजबूत स्थिति में गिरावट आने की संभावना जताई जा रही है। नवंबर 2019 तक चीन की ग्रेडिंग A- शेयर्स को बढ़ाया गया है। यह जानकारी ग्लोबल इनवेस्टमेंट बैंक की स्थितियों पर नजर रखनेवाली गोल्डमैन सैक्स की ओर से मिली है। गोल्डमैन की रिपोर्ट में कहा गया है कि नवंबर तक भारत में एमएससीआई ईएम ट्रैकिंग फंड्स से 3.8 अरब डॉलर निकाले जा सकते हैं, जिससे भारत की रेटिंग में गिरावट आएगी। हालांकि गोल्डमैन सैक्स ने भारतीय शेयर्स पर आउटलुक 'मार्केट वेट' के तौर पर बरकरार रखा है।

सेक्टरोरियल कंपनियों के आधार पर चीन की टॉप 10 होल्डिंग्स में टेनसेंट होल्डिंग्स लिमिटेड का पोर्टफोलियो 6.4 फीसदी, ताइवान सेमिकंडक्टर मैन्युफैक्चरिंग कंपनी का पोर्टफोलियो 4.7 फीसदी, सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स का पोर्टफैलियो 4.5 फीसदी, अलीबाबा ग्रुप होल्डिंग्स लिमिटेड का पोर्टफोलियो 3.6 फीसदी, पिंग एन इन्श्योरेंस ग्रुप कंपनी चीन का पोर्टफोलियो 2.9 फीसदी, एआईए ग्रुप लिमिटेड का पोर्टफोलियो 2.7 फीसदी और चीन मर्चेंट्स बैंक का 2.1 फीसदी पोर्टफोलियो रहा है। इसके अलावा एमएससीआई ईएम इंडेक्स में फाइनेंसियल कंपनियों की हिस्सेदारी 24.8 फीसदी, कन्ज्यूमर डिस्क्रिएशनरी कंपनियों की हिस्सेदारी 10.4 फीसदी, आई कंपनियों की हिस्सेदारी 14.2 फीसदी, कम्युनिकेशन सर्विसेस की हिस्सेदारी 14.1 फीसदी और मटेरियल्स कंपनियों की हिस्सेदारी 7.7 फीसदी है। हेल्थकेयर 2.8 फीसदी ओर एनर्जी सेक्टर की कंपनियों की हिस्सेदारी 8 फीसदी रही है।

गोल्डमैन सैक्स की रिपोर्ट के अनुसार, एमएससीआई ईएम इंडेक्स में वेटेज के बदलाव के कारण टॉप कंपनियों के एमएससीआई इंडिया शेयरों में सबसे अधिक गिरावट आ सकती है। एमएससीआई इंडिया कंपनियों में एल एंड टी, टीसीएस, रिलायंस इंडस्ट्रीज, आईसीआईसीआई, आईटीसी जैसी कंपनियां शामिल हैं। इन कंपनियों के शेयर्स का वेटेज 0.4 पर्सेंट घटकर 2.3 पर्सेंट पर आने की संभावना जताई गई है। रिपोर्ट में अनुमान लगाया गया है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों से 42.5 करोड़ डॉलर तक निकाले जा सकते हैं। फिलहाल मार्केट कैपिटलाइजेशन के लिहाज से रिलायंस फिलहाल टॉप 10 कंपनियों में पहले पायदान पर काबिज है।

ग्लोबल इंडेक्स प्रोवाइडर एमएससीआई ने पिछले सप्ताह जारी अपनी रिपोर्ट में कहा था कि एमएससीआई बेंचमार्क में चीन के शेयर्स का वेटेज चार गुना बढ़ा है। चीन में लॉर्ज कैप कंपनियों के शेयर्स की मौजूदा 5 पर्सेंट हिस्सेदारी को बढ़ाकर 20 पर्सेंट किया जाएगा। मई, अगस्त और नवंबर 2019 तक प्रत्येक महीने में इन शेयर्स का वेटेज 5 पर्सेंट तक बढ़ाया जाएगा। साल 2015 में एमएससीआई के इमर्जिंग इंडेक्स में चीन के ए-शेयरों को शामिल करने के लिए एलोकेशन और कैपिटल मोबिलिटी पर समीक्षा की गई थी। एमएससीआई और चीन के रेगुलेटर सीएसआरसी वर्किंग ग्रुप का गठन भी किया गया था।

गोल्डमैन सैक्स ने भारत के अलावा ऑस्ट्रेलिया, हांगकांग, सिंगापुर और मलेशिया पर 'मार्केट वेट' आउटलुक रखा है। इस इंडेक्स में चीन A शेयर्स, इंडोनेशिया और फिलीपींस पर 'ओवरवेट' रेटिंग दी गई है, जबकि दक्षिण कोरिया, ताइवान और थाईलैंड के लिए इस इंडेक्स में आउटलुक 'अंडरवेट' रेटिंग वाली है। रीजनल आधार पर गोल्डमैन ने एशिया पैसिफिक (जापान को छोड़कर) के लिए जीएस एमर्जिंग मार्केट इक्विटी फंड अलोकेशन 70.7 फीसदी, लैटिन अमेरिक के लिए 13.8 फीसदी, यूरोप के लिए 6.3 फीसदी और अफ्रीका व मिडिल ईस्ट देशों की कंपनियों के लिए 5.8 फीसदी निर्धारित किया है।

हिन्दुस्थान समाचार

लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image