Hindusthan Samachar
Banner 2 गुरुवार, अप्रैल 25, 2019 | समय 17:22 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

हिमाचल की विकास दर 7.3 फीसदी रहने का अनुमान

By HindusthanSamachar | Publish Date: Feb 8 2019 6:50PM
हिमाचल की विकास दर 7.3 फीसदी रहने का अनुमान

सुनील

-जयराम सरकार ने विधानसभा में पेश किया आर्थिक सर्वेक्षण

शिमला, 08 (हि.स.) । हिमाचल की अर्थव्यवस्था तेजी से आगे बढ़ रही है। मौजूदा वित्त वर्ष में जहां राष्ट्रीय विकास दर 7.2 फीसद रहने का अनुमान है, वहीं हिमाचल प्रदेश की विकास दर 7.3 फीसदी रह सकती है। सूबे में प्रति व्यक्ति आय के साथ-साथ सकल घरेलू उत्पाद भी तेजी से बढ़ा है। प्रदेश के विकास की रफ्तार बेशक राष्ट्रीय औसत से बेहतर हो, लेकिन कृषि, बागवानी तथा पर्यटन के हिसाब से यह चालू वित्त वर्ष में बेहतर नहीं रहा।प्रदेश में फल व कृषि उत्पादन के साथ-साथ पर्यटकों की आमद में भी मौजूदा वित्त वर्ष में कमी आई है।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने शुक्रवार को आर्थिक सर्वेक्षण विधानसभा में पेश किया। आर्थिक सर्वेक्षण में प्रदेश के विकास की जो तस्वीर प्रस्तुत की गई है उसे देखते हुए हिमाचल की आर्थिकी राष्ट्रीय औसत के मुकाबले तेजी से आगे बढ़ रही है। विकास दर 7.3 प्रतिशत रहने का अनुमान है। साथ ही प्रति व्यक्ति आय भी एक लाख 76 हजार 968 रुपये आंकी गई है। बीते साल के एक लाख 36 हजार 542 करोड़ के मुकाबले प्रदेश में सकल घरेलू उत्पाद मौजूदा वित्त वर्ष में 1,51,835 करोड़ होने की संम्भावना है। प्रदेश में बीते सितम्बर में ऋण जमा अनुपात 47.46 है।

सर्वेक्षण के मुताबिक प्रदेश के सकल राज्य घरेलू उत्पाद में कृषि क्ष़ेत्र का भाग लगभग 09 प्रतिशत है।खाद्यान्न उत्पादन की बात करें तो साल 2016-17 में खाद्यानों का उत्पादन 15.63 लाख मीट्रिक टन की तुलना में वर्ष 2017-18 में तृतीय अनुमानों के अधार पर प्रत्याशित खाद्यानों का उत्पादन 15.31 लाख मीट्रिक टन हुआ। वर्ष 2018-19 में 16.69 लाख मीट्रिक टन का लक्ष्य है। प्रदेश में पिछले वित्त वर्ष में 05.65 लाख टन फल उत्पादन हुआ। मगर चालू वित्त वर्ष में दिसम्बर तक 3.60 लाख टन सेब का उत्पादन हुआ जबकि वर्ष 2017-18 में सेब का उत्पादन 4.47 लाख टन था तथा कुल फल उत्पादन में से सेब का भाग लगभग 79 प्रतिशत है। आर्थिक सर्वेक्षण के मुताबिक प्रदेश के रोजगार कार्यालयों में पंजीकृत बेरोजगारों की संख्या बीते दिसम्बर तक 8,49,981 है।

हिमाचल पथ परिवहन निगम के बेड़े में 3,078 बसें, 25 इलेक्ट्रिक बसें, 21 टैक्सियां तथा 50 इलेक्ट्रिक टैक्सियां 2,869 मार्गों पर प्रतिदिन 6.35 लाख किमी. की दूरी तय कर रही हैं। साल 2018 में प्रदेश में 164.50 लाख पर्यटक आए, जो राज्य की जनसंख्या का 2.4 गुना है। बीते साल के पर्यटकों की आमद के आंकड़ों से इसकी तुलना करें तो प्रदेश में सैलानियों की आमद में कमी आई है। बीते साल प्रदेश में 196.02 लाख सैलानी आए थे। सर्वेक्षण के मुताबिक, प्रदेश में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग तथा बीपीएल परिवारों के विद्यार्थियों को प्रदेश सरकार नि:शुल्क पाठ्य पुस्तकें उपलब्ध करवाने, लड़कियों को मुफ्त शिक्षा प्रदान करने, पुरुष एंव महिला की साक्षरता दर की कमी को पूरा करने के लिए शैक्षिक रूप से पिछड़े खंडों में कन्या छात्रावासों का निर्माण करने, 10वीं तथा 12वीं कक्षा के 8,800 मेधावी विद्यार्थियों को नेटबुक्स, लैपटॉप और एक जीबी डेटा कार्ड प्रदान करने का भी उल्लेख किया गया है। जयराम सरकार की विकास योजनाओं के साथ-साथ आयुष्मान भारत का उल्लेख भी सर्वेक्षण में किया गया है। हिन्दुस्थान समाचाल

लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image