Hindusthan Samachar
Banner 2 गुरुवार, दिसम्बर 13, 2018 | समय 02:24 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

भोगीशौल परिक्रमा यात्रा 24 सेपचास से अधिक स्वयंसेवी संस्थाएं करेगी सहयोग

By HindusthanSamachar | Publish Date: May 18 2018 2:59PM
भोगीशौल परिक्रमा यात्रा 24 सेपचास से अधिक स्वयंसेवी संस्थाएं करेगी सहयोग
जोधपुर, 18 मई (हि.स.)। श्री हिन्दू सेवा मण्डल द्वारा प्रत्येक पुरूषोत्तम (अधिक मास) के समय मारवाड़ की धरा सूर्यनगरी में आयोजित भोगीशैल परिक्रमा यात्रा इस वर्ष 24 मई से 30 मई तक आयोजित की जाएगी। इसको लेकर सभी तैयारियां लगभग पूरी कर ली गई है। इस वर्ष परिक्रमा यात्रा में करीब एक लाख से अधिक श्रद्धालुओं के भाग लेने की सम्भावना है। श्री हिन्दू सेवा मंडल के अध्यक्ष देवीलाल टाक, आयोजन समिति संयोजक प्रेमराज खींवसरा तथा सचिव विष्णुचन्द्र प्रजापत ने पत्रकारों को बताया कि परिक्रमा यात्रा में राजस्थान एवं देश के कोने-कोने से लाखों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचते है। यात्री उबड़-खाबड़ पथरीले काटों भरे रास्ते को पैदल चलते हुए सात दिन में अपनी यात्रा पूर्ण करते है। इस वर्ष ज्येष्ठ मास अधिक होने के कारण से यह परिक्रमा यात्रा 24 मई से 30 मई तक आयोजित होगी। श्री हिन्दू सेवा मंडल के प्रधानमंत्री कैलाश जाजू व कोषाध्यक्ष राकेश सुराणा ने बताया कि परिक्रमा यात्रा के प्रथम दिन 24 मई को दोपहर तीन बजे श्री हिन्दू सेवा मंडल कार्यालय घंटाघर जोधपुर पर अतिथियों द्वारा ध्वज पूजन किया जाएगा इसके साथ ही यहां से परिक्रमा यात्रा का शुभारम्भ होगा। उन्होंने बताया कि प्रथम दिन-24 मई को दिन के 3 बजे श्री हिन्दू सेवा मण्डल कार्यालय घण्टाघर जोधपुर पर ध्वज पूजन एवं परिक्रमा यात्रा प्रारम्भ। यात्रीगण बिनायकिया गॉव में बिछडीया गजानन्द के दर्शन कर रातानाडा, सहकारी बाजार चौराहा, भाटी चौराहा पर रात्री विश्राम करेगे। दूसरे दिन-25 मई को प्रात: 4 बजे यात्रीगण रातानाडा से प्रस्थान कर रिक्तीया भेरूजी के दर्शन कर, बाहरवी रोड होते हुए बाबा रामदेव मन्दिर मसूरीया दर्शन कर चौपासनी पहुच कर दिन व रात्री विश्राम चौपासनी क्षैत्र करेगे। तीसरे दिन- 26 मई को यात्रीगण चौपासनी से प्रस्थान कर श्रीजी की बैठक, अरना- झरना, तीर्थ में स्नान कर भदरेसिया, कदमकण्डी होते हुए बड़ली पहुँचकर दिन व रात्री विश्राम बड़ली क्षैत्र में करेगे। चौथे दिन- 27 मई को सुबह बडली से प्रस्थान कर यात्रीगण सोढो की ढाणी, रूपावतों का बेरा, कुई की बावडी, बृहस्पती कुण्ड़ होते हुए बैधनाथ महादेव मन्दिर पहुचेगे दिन व रात्री विश्राम बैधनाथ महादेव मन्दिर क्षैत्र पर करेगे। पांचवे दिन -28 मई को यात्रीगण प्रात: बैधनाथ महादेव से प्रस्थान कर मण्डलनाथ महादेव, कुण्डली माता, जोगीतीर्थ, दईजर माता के दर्शनकर बैरीगंगा पहुंचेगे दिन व रात्री विश्राम बैरीगंगा क्षैत्र करेगे। छठे दिन-29 मई को यात्रीगण सुबह बैरीगंगा से प्रस्थान कर निम्बातिर्थ होते हुए मण्डोर पहुचेगे दिन व रात्री विश्राम मण्डोर उद्यान पर करेगे। सातवें दिन -30 मई को सुबह यात्रीगण मण्डोर उद्यान से प्रस्थान कर मगराज जी का टांका, सन्तोषी माता मन्दिर, कागा तीर्थ, महामन्दिर पारकोटे सहारे, शक्ति नगर, लक्ष्मीनगर, बी.जे.एस. होते हुए शेखावतजी का तालाब, उम्मेद भवन, गणेश मन्दिर रातानाडा होते हुए मोहनपुरा पुलिया पुलिस लाईन पहुचेगे। दिन के 11 बजे भव्य शोभायात्रा के रूप में सोजती गेट, घासमण्डी, कन्दोई बाजार, सीटीपुलिस, सराफा बाजार होते हुए जूनीमण्डी स्थित घनश्यामजी के दर्शन कर ध्वज घण्टाघर पहुचकर भौगीशैल परिक्रमा यात्रा का समापन होगा। हिन्दुस्थान समाचार/सतीश/ ईश्वर
image