Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, अप्रैल 21, 2019 | समय 09:50 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

बीयू के पर्यटन संस्थान में विश्व धरोहर दिवस पर होगी कार्यशाला

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 17 2019 9:17PM
बीयू के पर्यटन संस्थान में विश्व धरोहर दिवस पर होगी कार्यशाला
क्षेत्रीय सांस्कृतिक धरोहर का प्रदर्शन पोस्टर व प्रदर्शनी के माध्यम से होगा झांसी, 17 अप्रैल (हि.स.)। पर्यटन एवं होटल प्रबंधन संस्थान बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय में 18 अप्रैल को विश्व धरोहर दिवस के अवसर पर एक कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त बुन्देलखण्ड की सांस्कृतिक धरोहर को एक चित्रकला तथा पोस्टर प्रदर्शनी के माध्यम से दिखाया जायेगा। पर्यटन एवं होटल प्रबंधन संस्थान के निदेशक एवं विभागाध्यक्ष प्रो.सुनील काबिया ने बताया कि गुरूवार को आईटीएचएम के सभागार में एक कार्यशाला का आयोजन किया जाएगा। जिसमें मुख्य अतिथि पुलिंद कला दीर्घा के निदेशक तथा समाजसेवी मुकुंद मेहरोत्रा होंगे तथा विशिष्ट अतिथि भारत सरकार के द्वारा संचालित यमुनानगर के पर्यटन प्रबंध संस्थान के प्राचार्य प्रो.पीके गुप्ता होंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय के प्रभारी कुलपति प्रो.वीके सहगल करेंगे। प्रो.काबिया ने बताया कि इस अवसर पर मुख्य अतिथि तथा मुख्य वक्ता के रूप में प्रो.गुप्ता ‘हेरिटेज कुशीन’ (परम्परागत पाक शैली) पर अपना व्याख्यान देंगे। उन्होंने कहा कि इस वर्ष विश्व धरोहर दिवस की थीम ‘रूरल लैण्डस्केप’ है। प्रो.काबिया ने बताया कि सम्पूर्ण विश्व में आज भी नगरों की अपेक्षा अधिक जनसंख्या ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करती है। अतः आज आवश्यकता इस बात की है कि ग्रामीण पर्यटन तथा ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित स्थानों तथा स्मारकों को पर्यटन क्रेन्दों के रूप में विकसित करें, ताकि ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार तथा आय में बृद्धि वृद्धि हो। उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र की संस्था यूनेस्को ने 1983 से स्मारक और स्थलों के लिए अन्तर्राष्ट्रीय दिवस के रूप में प्रतिवर्ष 18 अप्रैल को मनाये जाने की घोषणा की। इसका उद्देश्य दुनिया भर की निर्मित स्मारकों और विरासत स्थलों की विविधता और उनके संरक्षण और संरक्षण के लिए आवश्यक प्रयासों के बारे में जनता में जागरूकता लाना है। हिन्दुस्थान समाचार/महेश/दीपक/संजय
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image