Hindusthan Samachar
Banner 2 शुक्रवार, अप्रैल 19, 2019 | समय 21:49 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

चैत्र में सावन सी झड़ी, कई स्थानों पर ओलावृष्टि

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 17 2019 9:05PM
चैत्र में सावन सी झड़ी, कई स्थानों पर ओलावृष्टि
नरसिंहपुर, 17 अप्रैल (हि.स.)। मंगलवार-बुधवार की रात को शुरू हुई बारिश बुधवार को भी दिन भर रूक-रूक कर जारी रही। बुधवार की दोपहर को जिले के विभिन्न क्षेत्रों में बारिश के साथ-साथ ओलावृष्टि भी हुई है । कहीं चना तो कहीं छोटी बेर के आकार के ओले गिरने से गेंहू की कटी पड़ी व खड़ी फसल को ही आंशिक क्षति पहुंची है। पानी व ओले की मार से गेंहू की चमक चले जाने की आशंका है। वहीं खेत तरबतर हो जाने से कटाई व गेंहू उठाने का कार्य बतर आने तक प्रभावित होगा। गोटेगांव विकासखंड के ग्राम देगुंवा उमरिया, बचई के पास देवनगर नया, बकोरी, मध पिपरिया, कोसमखेड़ा, रमखिरिया, हिनोतिया, चीचली क्षेत्र के कल्याणपुर, इमलिया, हीरापुर व सिहोरा बोहानी आदि में बारिश के साथ अलग-अलग आकार के ओले गिरे। वहीं बारिश के कारण गन्ना व गर्मी में लगायी गयी मूंग की फसल को फायदा अवश्य हुआ है। ईंंट-भट्टों को हुआ भारी नुकसान खुले आसमान के नीचे लगने वाले ईंंटे भट्टों का इस अप्रत्याशित बारिश ने भारी नुकसान किया है। दो दिनों से हो रही बारिश के कारण ईंंटे-भट्टे जलमग्न हो जाने से जहां कच्ची ईंंटेंं पूरी तरह बर्बाद हो चुकी हैं, वहीं जल निकासी होने तक कार्य भी लंबे समय तक के लिए रूक गया है। ईंंटे भट्टा संचालक कुम्हार समाज के गणेश प्रजापति ने हिस को बताया कि बचई के पास लगे मेरे ईंंट भट्टे में लगभग 15 से 20 हजार कच्ची ईंंटें पूरी तरह गल गयी हैं, जिससे उसे हजारों का नुकसान हुआ है। इस क्षेत्र में 20-25 ईंंटे भट्टे संचालित होते हैं। सभी को हजारों में क्षति हुई है। वहीं इस बेमौसम बारिश से इनका कार्य भी बुरी तरह प्रभावित हुआ है। तापमान में आयी गिरावट बारिश के चलते जिले के नागरिकों को तीखी गर्मी से भी राहत मिली है। दो दिन से रूक-रूककर हो रही बारिश से जिला मुख्यालय सहित जिले के अधिकांश हिस्से पूरी तरह तरबतर हो गये हैं। वर्षा से तापमान में भी करीब 10 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गयी है। जो तापमान 2 दिन पहले 42 डिग्री सेल्सियस के स्तर को पार कर चुका था वह बुधवार को 32 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। बुधवार शाम को भी रिमझिम बारिश जारी थी। विद्युत आपूर्ति हुई बाधित आंधी-तूफान के साथ हुई बारिश ने क्षेत्र की विद्युत व्यवस्था की भी पोल खोल दी है। तूफान का वेग न सह पाने के कारण कई विद्युत पोल व लाईन झूलने लगी है, जिससे बार-बार विद्युत आपूर्ति भी बाधित हो रही है। इस स्थिति से उजागर हो रहा है कि ठेकेदार लाईन डालने व पोल खड़े करने में गुणवत्ता को किस तरह ताक पर रख रहे हैं। जिला मुख्यालय में भी बिजली व्यवस्था आंख-मिचौली खेल रही है। सुबह व शाम के वक्त दो-तीन बार कुछ-कुछ वक्त के लिए बिजली गुल हो गयी। हिन्‍दुस्‍थान समाचार /संजय/राजू/मुकेश
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image