Hindusthan Samachar
Banner 2 शुक्रवार, अप्रैल 19, 2019 | समय 21:45 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

बढ़ते हवाई किरायों पर डीजीसीए सख्त, जेट मामले से फायदा नहीं उठा पाएंगी दूसरी एयरलाइन्स

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 17 2019 8:19PM
बढ़ते हवाई किरायों पर डीजीसीए सख्त, जेट मामले से फायदा नहीं उठा पाएंगी दूसरी एयरलाइन्स
नई दिल्ली, 17 अप्रैल (हि.स.)। देश में विमानन क्षेत्र की नियामक संस्था, नागरिक विमानन महानिदेशक(डीजीसीए) ने बढ़ते हवाई किरायों को लेकर सभी एयरलाइन्स के प्रतिनिधियों से मुलाकात की। इसमें डीजीसीए ने साफ किया है कि एयरलाइन्स को जेट एयरवेज मामले के चलते पैदा हुए हालात का फायदा नहीं उठाने दिया जाएगा। कई निजी एयरलाइन्स जेट एयरवेज की फ्लाइट रद्द होेने की स्थिति का फायदा उठाने के लिए उन रूटों पर अपने विमान चलाना चाह रही थी। इसके लिए वे कम फायदे वाले रूट से विमान हटाकर इन फायदेमंद रूट्स पर लाने की कोशिश में थी लेकिन डीजीसीए ने इसके लिए साफ इनकार कर दिया। नागरिक विमानन महानिदेशक(डीजीसीए) ने साफ कर दिया कि एयरलाइन्स यदि जेट एयरवेज के फायदेमंद रूट्स पर अपनी फ्लाइट्स उड़ाना चाहती है तो उन्हें अपने बेड़े में और विमानों को शामिल करना होगा। वे कम फायदे वाले रूट्स से विमान हटाकर हवाई यात्रियों को परेशान नहीं कर सकतीं क्योंकि कई एयरलाइन्स ने दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु, कोलकाता, हैदराबाद जैसे फायदेमंद रूट्स पर जेट की फ्लाइट्स रद्द होने का फायदा उठाने की कोशिश करनी शुरू की थी और अपने कम फायदे वाले रूट्स से विमानों को इन रूट्स पर लगाना शुरू कर दिया था। वित्तीय मुश्किलों से गुजर रही जेट एयरवेज अपने कर्मचारियों को समय पर सैलरी नहीं दे पा रही है। एयरलाइंस के बेड़े में फिलहाल सात विमान ही ऑपरेशनल हैं, जबकि सालभर पहले कंपनी के बेड़े में 124 विमान थे। हालात इतने बिगड़ गए हैं कि कंपनी प्रबंधन ने कुछ समय के लिए जेट एयरलाइन के कई रूटों पर उड़ानों को रद्द करने का फैसला लिया है। कंपनी 18 अप्रैल तक ऑपरेशन बंद भी कर सकती है। साथ ही अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को भी बंद किए जाने पर विचार किया जा रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/निमिष/आकाश
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image