Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, अप्रैल 21, 2019 | समय 08:34 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

शव को दफन किए जाने के 22 घंटे बाद दोबारा निकाला

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 17 2019 8:11PM
शव को दफन किए जाने के 22 घंटे बाद दोबारा निकाला
नागदा, 17 अप्रैल (हि.स.)। बीते दिनों ग्राम भाटीसुड़ा रेलवे ट्रेक पर मिले अज्ञात शव की पहचान परिजनों द्वारा कर ली गई है। बुधवार को परिजनों द्वारा शव की पहचान किए जाने पर दफनाए गए शव को दोबारा निकाला गया है। शव सेना से सेवानिवृत्त हो चुके जीवराजसिंह की है। मृतक के परिजनों ने शव के समीप मिली समग्रियों को देखकर शव की शिनाख्त की है। बता दें, कि शव की शिनाख्त नहीं होने के कारण बिरलाग्राम पुलिस शव को चंबल नदी के तट के समीप मौजूदा खाली भूमि पर दफन कर दिया था। परिजनों द्वारा मृतक की पहचान किए जाने के 22 घंटे के भीतर ही शव को दोबारा बाहर निकालना पड़ा। मृतक के परिजन जेसीबी एवं एम्बुलेंस लेकर चंबल किनारे उस स्थान पर पहुंचे जहां एक दिन पूर्व पुलिस ने शव को दफना दिया था। पुलिस ने मौके पर पहुंची जेसीबी से कब्र की मिट्टी को हटवाया और उसमें दफन लाश को बहार निकलवा कर परिजनों के सुपुर्द कर दी। क्या है पूरा मामला दरअसल बीते सोमवार शाम को इंदौर-पुणे एक्सप्रेस ट्रेन से किसी अज्ञात व्यक्ति की कटने से मौत हो गई थी। शव को बिरलाग्राम पुलिस व जीआरपी ने बरामद किया था। काफी तलाश करने के बाद शव की शिनाख्त नहीं हो सकी। जिसके बाद बिरलाग्राम पुलिस ने शव के सम्मान में उसे दफन कर दिया, लेकिन तीन पूर्व जीवराजसिंह नामक व्यक्ति के परिजनों ने बिरलाग्राम पुलिस को गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखवाई थी। बुधवार को परिजनों द्वारा मृतक की वस्तुओं की पहचान कर ली गई। जिसके बाद पुलिस द्वारा जेसीबी की सहायता से दोबारा शव को बाहर निकाला गया और परिजनों को सौंप दिया गया। हिन्‍दुस्‍थान समाचार /कैलाश / मुकेश
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image