Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, अप्रैल 21, 2019 | समय 10:05 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

एनआईए की टीम पहुंची गिद्दी, मध्यप्रदेश से गायब एके-47 के बिहार, बंगाल व झारखंड कनेक्शन को लेकर फिर हुई छापेमारी

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 17 2019 8:03PM
एनआईए की टीम पहुंची गिद्दी, मध्यप्रदेश से गायब एके-47 के बिहार, बंगाल व झारखंड कनेक्शन को लेकर फिर हुई छापेमारी
हजारीबाग, 17 अप्रैल (हि.स.)। (अपडेट) नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) की टीम बुधवार को एक बार फिर हजारीबाग के गिद्दी में पहुंचकर एके-47 हथियार की खरीद बिक्री के मामले में दस्तावेज खंगालने पहुंची। एजेंसी से जुड़े कई वरीय अधिकारियों ने इस हथियार की खरीद बिक्री के मामले में शामिल मोनाजीर हसन के घर पर छापेमारी की। छापेमारी के दौरान घर की तलाशी लेने के बाद एनआईए की टीम ने घर को सील कर दिया। इस मामले में न तो एनआईए से जुड़े अधिकारियों और न हीं झारखंड पुलिस के अधिकारियों ने कोई खुलासा किया, लेकिन समझा जाता है कि मध्य प्रदेश के जबलपुर स्थित ओएफके कंपनी से 70 एके-47 हथियार की चोरी एवं उसकी खरीद बिक्री से जुड़े बिहार, बंगाल व झारखंड कनेक्शन के तह तक जाने की दिशा में यह एक प्रयास है। गौरतलब है कि पिछले साल एके-47 हथियारों की चोरी के बाद मध्यप्रदेश पुलिस ने इसे खंगालते हुए बिहार पुलिस के साथ मिलकर 3 अक्टूबर को मुंगेर के मिर्जापुर वर्धा में मंजर आलम उर्फ मंजी खान के घर पर छापेमारी की थी। इसके कुएं से करीब डेढ दर्जन एके-47 हथियार बरामद हुई थी। इसी कनेक्शन को खंगालते हुए पुलिस ने मुंगेर के जमालपुर में गया निवासी राजीव कुमार सिंह उर्फ चुन्नू सिंह पिता मिथिलेश प्रसाद सिंह को गिरफ्तार किया था। साथ ही मंजर आलम उर्फ मंजी खान के साला गिद्दी निवासी मोनाजीर हसन को भी पुलिस ने पकड़ा था। इसके घर पर तब की गई छापेमारी में पुलिस व एनआईए की टीम ने वहां से लैपटाॅप सहित कई दस्तावेज बरामद किया था। साथ ही एक स्काॅर्पियो वाहन को भी जब्त किया था। सूचना थी कि राजीव कुमार सिंह उर्फ चुन्नू सिंह को एक अन्य आरोपी इरफान एवं मोनाजीर हसन द्वारा एके-47 और पिस्टल सहित अन्य हथियार बेचा गया था। इतना ही नहीं एनआईए टीम को यह भी आशंका है कि मंजर आलम उर्फ मंजी खान की राशि का उपयोग मोनाजीर हसन कोयले के कारोबार में इस्तेमाल करता था। तब यह खुलासा हुआ था कि राजीव कुमार सिंह उर्फ चुन्नू सिंह के पिता मिथिलेश प्रसाद सिंह के नाम से हजारीबाग में गणपति गन हाउस नामक हथियार की दुकान चलती थी। इसी क्रम में चुन्नू सिंह का सम्पर्क इरफान उर्फ मंजर आलम उर्फ मंजी खान एवं उसके साला मोनाजीर हसन से हुई थी। इरफान के बारे में जानकारी है कि 28 अगस्त को मुंगेर पुलिस ने जमालपुर में उसे 3 एके-47 हथियार के साथ इमरान को गिरफ्तार किया था, तब इरफान के दो बैग में छह एके-47 था, जिसे लेकर वह फरार हो गया था। एनआईए व पुलिस एके-47 हथियार झारखंड के नक्सलियों एवं पश्चिम बंगाल के नक्सलियों के हाथों बेचे जाने के मामले की तह तक जाने में लगा है। इतना ही नहीं उसे यह भी सूचना है कि बिहार के कई बाहुबली विधायकों व सांसदों को भी जबलपुर से उड़ाए गए एके-47 हथियार बेचे गए हैं। एनआईए व पुलिस की टीम ने इसमें से कुछ को बरामद करने में भी सफलता पाई थी। बहरहाल एनआईए की टीम द्वारा एक बार फिर गिद्दी पहुंचकर मोनाजीर हसन के घर की तलाशी व सील किए जाने से एके-47 हथियारों की खरीद बिक्री का मामला सुर्खियों में आ गया है। हिन्दुस्थान समाचार/शाद्वल / वंदना
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image