Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, अप्रैल 22, 2019 | समय 17:44 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

रैपिड रेल के निर्माण में आने वाली हर बाधा को दूर करें अधिकारी: आयुक्त

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 17 2019 7:31PM
रैपिड रेल के निर्माण में आने वाली हर बाधा को दूर करें अधिकारी: आयुक्त
मेरठ, 17 अप्रैल (हि.स.)। मेरठ मंडल की आयुक्त अनीता सी मेश्राम ने कहा कि संबंधित विभागों के अधिकारी रैपिड रेल के निर्माण में आने वाली प्रत्येक बाधा को दूर करें। जिस कारण यह प्रोजेक्ट समय पर पूरा किया जा सकें। इस प्रोजेक्ट के पूरा होने से मेरठ से दिल्ली का सफर बहुत ही कम समय में पूरा किया जा सकेगा। आयुक्त शिविर कार्यालय पर बुधवार को दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ के मध्य आरआरटीएस काॅरिडोर के निर्माण कार्यों में तीव्रता लाने, सुगमता से संचालन करने के साथ निर्माण कार्यों में आ रही बाधाओं को दूर करने के लिए बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में आयुक्त अनीता सी मेश्राम ने कहा कि सभी अधिकारी आपसी समन्वय के साथ एनसीआरटीसी द्वारा उठाये गये बिन्दुओं को संज्ञान में लें और प्राथमिकता पर उनका निराकरण करें। यह देश की पहली उच्च गति वाली रीजनल रेल है और एक गहन पूंजी प्रधान परियोजना है। आठ मार्च को दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल के शिलान्यास के बाद राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र परिवहन निगम (एनसीआरटीसी) द्वारा अब तक किये गये कार्यों एवं निर्माण में आ रही बाधाओं के बारे में अधिकारियों ने विस्तार से चर्चा की और इसके रास्ते में आ रही बाधाओं को दूर करने के निर्देश दिए गए। आयुक्त ने कहा कि सभी विभाग एवं एजेंसियां एक साथ मिलकर काम करें, ताकि परियोजना का कार्य समय पर पूर्ण किया जा सके। परियोजना में देरी से इसकी लागत में इजाफा होगा, इसलिए हर छोटी रुकावट का समाधान समय पर किया जाए। उन्होंने कहा कि दिल्ली-मेरठ के बीच आमजन को सुगम, सुरक्षित एवं प्रदूषणमुक्त यातायात उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता है। एनसीआरटीसी के अधिकारी सारे कार्य को गुणवत्तायुक्त ढंग से पूरा कराए। निर्माण शुरू करने से पहले जनता की सुविधा हेतु यातायात के आवागमन का ध्यान रखा जाये जिसका संचालन सुगमता से हो। निर्माण कार्यों के दौरान सड़क के किनारे पेड़ कटिंग, हाईटेंशन तार व पोल शिफ्टिंग तथा रोड वेडिंग के साथ नये पोल स्थापित कर रोड पर प्रकाश व्यवस्था की जाए। बैठक में एमडी एनसीआरटीसी विनय कुमार सिंह ने बताया कि मेरठ व गाजियाबाद सीमा के अन्तर्गत रैपिड रेल के निर्माण में मुख्य स्टेशन, सब स्टेशन, डिपो आदि अन्य कार्यों के लिये जीडीए, एमडीए नगर निगम, सिंचाई विभाग आदि विभागों की भूमि अस्थायी व स्थायी रूप से उपलब्ध कराने में आ रही रुकावट के सम्बंध में विस्तार से चर्चा की गयी। आयुक्त ने सम्बंधित अधिकारियों को निर्देश दिये कि इनका निस्तारण शीघ्र करें ताकि शासन स्तर पर 22 अप्रैल को होने वाली समीक्षा बैठक में स्थिति अवगत करायी जा सके। दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल के तहत 82 किलोमीटर मार्ग का निर्माण होना है जिसका जिओ टैंकिंग, रोड सेफ्टी कार्य किया जा रहा है तथा अंडरग्राउंड रोड भी सराय खाले खां से साहिबाबाद तक बनायी जा रही है। उन्होंने बताया कि सबसे पहले गाजियाबाद से कार्य प्रारम्भ है जहां पर रोड वेडिंग कार्य के लिये टैण्डर प्रक्रिया पूर्ण हो चुकी है। उन्होंने बताया कि दुहाई से शताब्दीनगर तक रोड वेडिंग कार्य के लिये टैण्डर प्रक्रिया की जा रही है। उन्होंने बताया कि रैपिड रेल की माॅनिटरिंग मैकेनिज्म एवं हाई कमेटी भी सरकार ने बनायी है जिसकी हर तीसरे माह रिपोर्ट प्रेषित करनी होगी। उन्होंने बताया कि नई तकनीकी के प्रयोग के साथ कार्य किया जा रहा है। उन्होंने सभी सम्बंधित विभागों के सहयोग की अपेक्षा है। उन्होंने कहा कि पहले चरण में साहिबाबाद से दुहाई तक कार्य पूर्ण होगा तथा दिसम्बर 2019 से दुहाई से मेरठ कार्य का प्रारम्भ किया जायेगा। उन्होंने दुहाई में डिपो के लिये भूमि व गाजियाबाद तिराहे पर हिण्डन मोटल की भूमि पर कब्जे के सम्बंध में विस्तार से चर्चा हुई, जिसपर आयुक्त ने शीघ्र निराकरण हेतु सम्बंधित को निर्देश दिये। उन्होंने मुरादनगर में सब स्टेशन हेतु सिंचाई विभाग की जमीन का प्रस्ताव उपलब्ध कराने हेतु चर्चा की गई जिसपर सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने शीघ्र उपलब्ध कराने के लिये आश्वस्त किया।। दिल्ली-मेरठ रोड पर वर्धमानपुरम पुलिस चौकी रोड पर होने के कारण इसे शिफ्ट करने के निर्देश सम्बंधित को दिये गये। बैठक में उपाध्यक्ष एमडीए ने रिठानी में स्टेशन हेतु भूमि देने के साथ शताब्दीनगर में 18 हेक्टेयर के करीब भूमि एनसीआरटीसी को किराये पर उपलब्ध कराने के लिये आश्वस्त किया। हिन्दुस्थान समाचार/कुलदीप/संजय
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image