Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, अप्रैल 21, 2019 | समय 10:28 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

राजनीतिक स्वार्थ साधने के लिए मनमाने तरीके से की गयी नोटबन्दी : कांग्रेस

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 17 2019 7:18PM
राजनीतिक स्वार्थ साधने के लिए मनमाने तरीके से की गयी नोटबन्दी : कांग्रेस
मुंबई, 17 अप्रैल (हि. स.)। काँग्रेस के प्रवक्ता सचिन सावंत ने बुधवार को भाजपा सरकार की नीतियों पर हमला करते हुए कहा कि 2014 में सत्ता संभालने के बाद से लगातार जनता से झूठ बोल रहे हैं। जनता को विकास के नाम पर गुमराह करने और देश को आर्थिक बदहाली की ओर ढकेलने का काम किया | नोटबंदी का फैसला कालेधन और भ्रष्टाचार को जड़ से खत्म करने के लिए किया जाता तो जनता को खुशी होती। लेकिन राजनीतिक स्वार्थ को साधने के लिए मोदी ने मनमाने तरीके से नोटबन्दी का फैसला किया। नोटबन्दी में 500 और 1000 के पुराने नोटों का चलन अचानक से बंद कर दिए जाने से आम जनता के साथ ही लघु उद्योग व कुटीर उद्योग समाप्त हो गए। कई छोटे कारोबारियों को आर्थिक संकट से गुजरना पड़ा। इस संकट से उबर भी नहीं पाए थे कि मनमानी तरीके से जीएसटी को लागू कर दिया गया। उन्होंने खुद ही कहा था कि 50 दिन में देश मे सारा काला धन सामने लाकर रख दूंगा। नहीं ला सका तो किसी भी चौराहे पर फांसी पर लटका देना। उनके जुमले और तानाशाही पूर्ण फैसले से सैकड़ों नागरिक मौत के गाल में समा गए। इसके लिए जिम्मेदार मोदी ही हैं और उनको जवाब देना चाहिए। उल्लेखनीय है कि अशोक चव्हाण और सुशील कुमार शिंदे पर भाजपा की ओर से आरोप लगाए गए हैं कि अगर दोनों नेताओं ने विकास के काम किये होते तो जनता को भावनात्मक रूप से ब्लैकमेल कर वोट नहीं मांग रहे होते। भाजपा के इन आरोपों का जवाब देते हुए सावंत ने कहा कि अगर अशोक चव्हाण ने विकास कामं नहीं किया होता तो नांदेड महानगर पालिका चुनाव में वहां की जनता काँग्रेस को क्यों सत्ता सौंपती। पिछले चुनाव में चव्हाण कोके पक्ष में वोट क्यों करती। भाजपा की ओर से पिछले चुनाव में साम दाम दंड भेद समेत सारे हथकंडे अपना चुकी थी, लेकिन नांदेड़ की जनता उनके भुलावे में नहीं आई। महाराष्ट्र सरकार के मंत्रीमंडल में सोलापुर के दो मंत्री भारतीय जनता पार्टी के हैं। महानगर पालिका में भी भाजपा की ही सत्ता है, लेकिन इसके बावजूद नागरिकों को पांच दिन के बाद पेयजल मिल रहा है। स्मार्ट सिटी योजना के अंतर्गत सोलापुर समेत महाराष्ट्र और देश के कितने शहरों का विकास हो पाया है। इसका जवाब भाजपा को देना चाहिए। सुशीलकुमार शिंदे राज्य के मुख्यमंत्री रहे, केंद्रीय गृहमंत्री भी रहे हैं। उन्होंने कई विकास कार्य किया है। हिन्दुस्थान समाचार / राधेश्याम/शंकर
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image