Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, अप्रैल 21, 2019 | समय 07:40 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

प्रशासन गांवों में हुई तबाही से अनजान

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 17 2019 7:00PM
प्रशासन गांवों में हुई तबाही से अनजान
श्रीगंगानगर, 17 अप्रैल (हि.स.)। जिले के विभिन्न स्थानों पर बीते दो दिनों में आंधी, बारिश-ओलावृष्टि से किसानों की कमर आर्थिक रूप से टूट गई है। रावला, अनूपगढ़, श्रीबिजयनगर और रामसिंहपुर जैसे दूरस्थ क्षेत्रों में स्थिति बेहद विकट है। विशेषकर श्रीबिजयनगर इलाके में मंगलवार शाम ओलावृष्टि से फसलें नष्ट हो गईं। इस सबके बावजूद बुधवार दोपहर तक प्रशासनिक प्रतिनिधि इन गांवों तक नहीं पहुंचे थे। बुधवार सुबह भारतीय किसान संघ की टीम ने श्रीबिजयनगर तहसील के कई गांवों का दौरा कर ओलावृष्टि से बर्बाद हुई फसलों और खेतों के हालात देखे। संघ के प्रांत मंत्री सत्यनारायण गोदारा ने बताया कि दो दिनों तक क्षेत्र में आंधी, बारिश-ओलावृष्टि होने से फसलों को भयंकर नुकसान हुआ है। कई-कई गांवों में तो सारी फसलें ही तबाह हो गईं। उनके नेतृत्व में टीम ने आज सुबह 4, 3, 2 बीएलडी, 5, 6, 8, 9, 10 और 11 बीएलएम, बिलोचिया, 39 और 40 जीबी, 3 और 4 बीजीएम का दौरा किया। इस दौरान खेतों मेें जाकर किसानों से बात की। फसलों में हुए नुकसान को देखा। उन्होंने बताया कि बीएलएम और जीबी क्षेत्र में तो आंधी, बारिश-ओलावृष्टि के चलते गेहूं-सरसों में 100 प्रतिशत तक नुकसान है। अन्य क्षेत्रों में भी बड़ी मात्रा में नुकसान हुआ है। कई किसानों की तो खेतों में काटकर रखी गई सरसों की मंडलियां (ढेरियां) पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गईं। इसी तरह खेतों में खड़ी गेहूं की फसल नीचे बिछ गई लेकिन हैरानीजनक है कि इतना सब होने के बाद अभी तक प्रशासन ने प्रभावित किसानों की सुध नहीं ली है। बुधवार तक जिन गांवों और खेतों में संघ की टीम पहुंची, वहां प्रशासन की ओर से कोई भी सर्वे या नुकसान की जानकारी लेने नहीं आया। इस अवसर पर रघुवीर सिंह चौधरी, रामचंद्र यादव, रामनारायण झोरड़ सहित अन्य साथ रहे। रायसिंहनगर विधायक बलवीर लूथरा ने भी मौके पर पहुंचकर किसानों को ढाढस बंधाते हुए कहा कि नुकसान के जल्द मुआवजे के प्रयास रहेंगे। हिन्दुस्थान समाचार/अनिल/संदीप
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image