Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, अप्रैल 21, 2019 | समय 08:33 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

महिलाओं का अपमान कांग्रेस की संस्कृतिः राजो मालवीय

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 17 2019 7:01PM
महिलाओं का अपमान कांग्रेस की संस्कृतिः राजो मालवीय
भोपाल, 17 अप्रैल (हि.स.)। महिलाओं का अपमान करना कांग्रेस की संस्कृति बन गयी है। पार्टी में इस तरह की घटनाएं आम हो गई हैं, जिन्हें न तो गंभीरता से लिया जाता है और न ही ऐसे मामलों में कोई सख्त कार्रवाई की जाती है। पार्टी की महिला नेत्रियों के सामने घुटते हुए सब कुछ सहन करने के अलावा कोई विकल्प नहीं होता। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता राजो मालवीय ने कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी के ट्वीट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कही, जिसमें उन्होंने उनके साथ हुए अन्याय का जिक्र किया है। कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी के साथ मथुरा में एक कार्यक्रम के दौरान कुछ कांग्रेसियों ने बदतमीजी की थी। उनकी शिकायत पर उन कांग्रेसियों को सस्पेंड किया गया था, लेकिन कुछ ही दिन बाद उत्तरप्रदेश के प्रभारी महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया की अनुशंसा पर उन्हें बहाल कर दिया गया। इस संबंध में ट्वीट करते हुए राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने लिखा है कि ‘इस बात से बहुत दुखी हूं कि कांग्रेस में गुंडों को उन लोगों से ज्यादा तवज्जो दी जाती है, जो पार्टी के लिए अपना खून-पसीना बहाते हैं। मैंने पार्टी के लिए पत्थर और गालियां झेलीं, फिर भी उन लोगों पर कोई ठोस कार्रवाई न किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है, जिन्होंने मुझे धमकियां दी थीं।’ इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भाजपा प्रवक्ता राजो मालवीय ने कहा कि महिलाओं का सम्मान करना कांग्रेस की संस्कृति का हिस्सा नहीं है। उनके नेता कभी महिलाओं को कभी टंच माल कहते हैं, तो कभी सजावट की वस्तु बताते हैं। मालवीय ने कहा कि आजम खान जैसे लोगों के बयानों पर कांग्रेस के नेता चुप रहकर महिला अपमान को मौन समर्थन देते हैं। कांग्रेस के गुंडे अपनी ही पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी के साथ बदसलूकी से बाज नहीं आते। उन्होंने कहा कि प्रियंका चतुर्वेदी को यह बात काफी देर से समझ आई कि कांग्रेस में बहनों का किस तरह से अनादर किया जाता है। उन्होंने कहा कि प्रियंका चतुर्वेदी जैसी परिश्रमी बहनों के साथ बद्तमीजी करना और शिकायत करने पर सिर्फ दिखावे की कार्रवाई करके आरोपियों को बहाल कर देना, यही कांग्रेस की संस्कृति है। राजो मालवीय ने कहा कि राष्ट्रीय प्रवक्ता जैसे पद पर नियुक्त प्रियंका चतुर्वेदी जैसी महिलाओं की बात को पार्टी के नेतृत्व द्वारा अनसुना करना और उनके साथ न्याय नहीं किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में गुंडाराज आ गया है, जिसमें महिलाओं की सुनने वाला कोई नहीं है। हिन्दुस्थान समाचार/केशव/सुभाष
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image