Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, अप्रैल 22, 2019 | समय 17:51 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

बंगाल में निष्पक्ष और शांतिपूर्ण मतदान के लिये तैनात होंगे केंद्रीय बल के 41 हजार जवान

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 17 2019 6:53PM
बंगाल में निष्पक्ष और शांतिपूर्ण मतदान के लिये तैनात होंगे केंद्रीय बल के 41 हजार जवान
कोलकाता, 17 अप्रैल (हि. स.)। राजनीतिक हिंसा के लिए कुख्यात रहे पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव के लिये होने वाले अगले 6 चरणों के मतदान के लिये रिकार्ड संख्या में केंद्रीय बल के जवानों को तैनात करने का निर्णय लिया है। गुरुवार से लेकर आगामी 19 मई के बीच होने वाले छह चरणों में अर्द्धसैनिक बल के कुल 41 हजार जवानों की तैनाती की जाएगी। यह पश्चिम बंगाल के चुनावी इतिहास में केंद्रीय बलों की सबसे अधिक संख्या है। केंद्रीय चुनाव आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि आम चुनाव के लिए यह राज्य में अब तक केंद्रीय सुरक्षा बलों की अधिकतम संख्या है। उन्होंने कहा कि केंद्रीय बलों की 400 कंपनियों के हिस्से के रूप में तैयार किए गए लगभग 41,000 कर्मियों को 19 मई को अंतिम और सातवें चरण के मतदान तक पश्चिम बंगाल में धीरे-धीरे तैनात किया जाएगा। अधिकारी ने कहा पहले चरण के मतदान के दौरान कूचबिहार और अलीपुरद्वार की दो सीटों पर लगभग 84 कंपनियों (प्रत्येक में लगभग 100 कर्मियों) को तैनात किया गया था। गुरुवार को जलपाईगुड़ी, दार्जिलिंग और रायगंज की तीन सीटों पर मतदान के लिए कुल 194 कंपनियां तैनात की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि कई मतदान केंद्रों को हिंसा के दृष्टिकोण से संवेदनशील घोषित किया गया है। दूसरे चरण में दार्जिलिंग, जलपाईगुड़ी और रायगंज में मतदान होना है जहां 5000 से अधिक मतदान केंद्रों के 80% बुथों को संवेदनशील घोषित किया गया है। अधिकारी ने कहा कि केंद्रीय जवानों की 400 कंपनियों का एक बड़ा हिस्सा केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल, सीमा सुरक्षा बल, सशस्त्र सीमा बल, केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल और भारतीय रिजर्व बटालियन (आईआरबी) से लिया जाएगा। उक्त अधिकारी ने बताया कि जैसे-जैसे मतदान समाप्त हो रहे हैं, सैनिकों को एक राज्य से दूसरे राज्य में ले जाया जा रहा है और अधिकतम संख्या में पश्चिम बंगाल भेजा जा रहा है। हालांकि पश्चिम बंगाल में अधिकतम संख्या में केंद्रीय बलों की तैनाती के बारे में सवाल पूछने पर राज्य चुनाव आयोग के अधिकारियों ने इस पर टिप्पणी करने से इन्कार कर दिया। हिन्दुस्थान समाचार/ ओम प्रकाश/मधुप
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image