Hindusthan Samachar
Banner 2 शुक्रवार, दिसम्बर 14, 2018 | समय 05:56 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

फतेहगढ़ में गायत्री महायज्ञ शुरू, युवाओं को नशामुक्त करने की दी आहुति

By HindusthanSamachar | Publish Date: Dec 8 2018 9:42PM
फतेहगढ़ में गायत्री महायज्ञ शुरू, युवाओं को नशामुक्त करने की दी आहुति
फर्रुखाबाद, 08 दिसम्बर (हि.स.)। फतेहगढ़ के डीएन डिग्री कॉलेज में गायत्री पीठ ने शनिवार को 51 कुण्डीय चार दिवसीय महायज्ञ का आयोजन किया है। इस महायज्ञ से आम जनमानस में फैल रहे द्वेष भावना को खत्म करने के लिए जन जागरुकता किया जा रहा है। शनिवार की सुबह सात बजे से गायत्री परिवार से जुड़े लोग अपने-अपने परिवार के साथ कार्यक्रम स्थल पर पहुंचकर पुण्य के भागीदारी कर रहे हैं। 51 कुण्डीय महायज्ञ के आयोजक राकेश बाबू शर्मा ने बताया कि समाज के लोगों के खानपान को लेकर कई प्रकार खामियां पनप नहीं है। उनके खात्मे के लिए सभी को जागरूक किया जा रहा है। प्रत्येक हवन कुंड में वेदमंत्रों से यजमानों के साथ हवन कराया जा रहा है। शाम के समय प्रवचन के माध्यम से अपनी जीवनचर्या को कैसे सुधारा जा सके, उसके लिए तरीके बताए जाते हैं। इस चार दिवसीय महायज्ञ में ब्रह्मचर्य का पूर्ण रूप से पालन कराया जाता है। महायज्ञ के पंडाल की खासियत-प्रवचन मंच को 151 रंग-बिरंगों कलशों से सजाया गया है। नशा किसी प्रकार का हो उससे परिवार पर क्या प्रभाव होता है। किसी भी प्रकार का नशा युवा समाज के लिए बहुत ही हानिकारक होता जा रहा है। इस नशे से पूरा परिवार कंगाल हो जाता है। अन्य सदस्य भीख मांगने पर मजबूर नहीं हो सके। दूसरी तरफ जो मजदूरी करके अपने परिवार का भरण-पोषण करते हैं। वे नशे की लत में मजदूरी के आधे से ज्यादा पैसे शराब के नशे व अन्य व्यसन में खर्च कर देते हैं। इससे उनके परिवार को खाली पेट सोना पड़ता है। उन्होंने कहा कि हमारे समाज में जितने भी नशे हैं। वह समाज के लिए हानिकारक साबित हो रहे हैं। इस प्रकार के आयोजन पूरे देश में चलाये जा रहे हैं। इससे हमारा देश मजबूत हो सके। वहीं, किसी भी धर्म के लोग हो उन सभी के विकास के लिए गायत्री परिवार के लोग अग्रसर रह कर उनका हित कर सके। हिन्दुस्थान समाचार/चंद्रपाल/पवन
image