Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, दिसम्बर 10, 2018 | समय 04:12 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

विधानसभा चुनाव, परिणाम घोषित होने में हो सकती है देरी

By HindusthanSamachar | Publish Date: Dec 8 2018 9:40PM
विधानसभा चुनाव, परिणाम घोषित होने में हो सकती है देरी
भोपाल, 08 दिसम्‍बर (हि.स.)। विधानसभा चुनाव की मतगणना 11 दिसंबर को शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज भवन में होगी। कांग्रेस ने अपने पत्ते खोल दिए हैं। सातों विधानसभा सीटों पर मतगणना के प्रत्येक राउण्ड के बाद कांग्रेस प्रत्याशी आरओ से मतगणना परिणाम का प्रमाण पत्र लेंगे। इसके बाद अगले चरण की कार्रवाई प्रारंभ होगी। इसके चलते संभव है कि परिणाम देरी से आएं। इधर सभी टेबलों पर कांग्रेस बाहुबलियों को बैठाएगी ताकि मौका आने पर अपना पक्ष कांग्रेस जोरदार तरीके से रखवा सके। जिले की सातों विधानसभा सीटों के परिणाम 11 दिसंबर को दोपहर बाद तक स्पष्ट होंगे। यह बात तब होगी जब कांग्रेस मतगणना के सभी चरणों को सामान्य रूप से संपादित करवाएगी। कांग्रेस सूत्रों का दावा है कि इस बार कांग्रेस चुनाव परिणामों को लेकर विशेष रूप से सतर्कता बरत रही है। भोपाल से यह तय हो गया है कि प्रत्येक चरण की मतगणना के बाद कांग्रेस प्रत्याशी सातों विधानसभा सीटों पर अलग-अलग आरओ से मतगणना का प्रमाण पत्र लेंगे और इसके बाद आगे का राउण्ड शुरू होगा। इस कार्य में देरी लगने पर वे धैर्य रखेंगे। कांग्रेसियों के अनुसार चूंकि प्रदेश में उनकी सरकार बनने जा रही है, ऐसे में उन्हें आशंका है कि परिणाम बदल न जाएं? हालांकि सीधी चर्चा में वे निर्वाचन कार्य पर आरोप लगाने से बचते दिखे, लेकिन उनका कहना था कि ऊपर के निर्देश हैं, यह सावधानी तो रखनी ही होगी। उन्होंने इसे सिंधिया फार्मूला बताया। चर्चा में शहर कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष रवि राय ने बताया कि यह चुनाव कांग्रेस के लिए प्रदेश में जीवन-मरण का प्रश्न बन गया है। जनता बदलाव चाहती है, इसलिए मतदान प्रतिशत बढ़ा है। यही कारण है कि हम सिंधिया फार्मूला अपनाएंगे और प्रत्येक राउण्ड का मतगणना परिणाम प्रमाण पत्र लेने के बाद ही अगले राउण्ड का काम शुरू होगा। यदि आरओ इस बात से इंकार करेंगे तो मतगणना कार्य रूकवा देंगे और मुख्य चुनाव आयुक्त से तत्काल अपने अधिकार के लिए शिकायत करेंगे। उन्होंने संकेत दिए कि इस बार सभी टेबलों पर कांग्रेस द्वारा ऐसे नेताओं, कार्यकर्ताओं को बैठाया जा रहा है जो कि मौके पर दमदारी से अपनी बात रखेंगे और किसी भी स्थिति में अधिकारियों के दबाव में नहीं आएंगे। चूंकि मांग लोकतांत्रिक होगी, इसलिए अधिकारों के लिए लड़ाई लडऩे से वे पीछे नहीं हटेंगे। इधर नगर जिला भाजपा के एक पदाधिकारी से जब मतगणना व्यवस्था को लेकर भाजपा द्वारा की जा रही तैयारियों की चर्चा की तो उन्होंने हंसकर कहा- जैसा हर बार होता है, करेंगे। हमें निर्वाचन व्यवस्था पर कोई शंका नहीं है। कांग्रेस जाने और उसका काम जाने। सूत्र बताते हैं कि भाजपा द्वारा भी मतगणना टेबलों पर अपने दमदार कार्यकर्ता तैनात किए जा रहे हैं जो हर स्थिति पर नजर रखेंगे तथा किसी भी आशंका वाली स्थिति में आपत्ति दर्ज कराने से नहीं चूकेंगे। हिन्‍दुस्‍थान समाचार/क्षितिज/राजू
image