Hindusthan Samachar
Banner 2 शुक्रवार, दिसम्बर 14, 2018 | समय 05:49 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

शांति तरीके से संपन्न हुआ रीजनल काउंसिल ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेट का चुनाव

By HindusthanSamachar | Publish Date: Dec 8 2018 9:18PM
शांति तरीके से संपन्न हुआ रीजनल काउंसिल ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेट का चुनाव
5800 सीए मतदाताओं ने 26 प्रत्याशियों के लिए किया मतदान, 14 प्रत्याशी यूपी से कानपुर, 08 दिसम्बर (हि.स.)। चार्टड एकाउंटेंट संस्थान के सेंट्रल रीजनल कॉउंसिल ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेंट के चुनाव के लिए शनिवार को मर्चेंट चैंबर में मतदान हुआ, जिसमें 5800 सीए मतदाताओं ने भाग लिया और मतदान शांतिपर्वूक रहा। मतदान के जरिये 11 सीटों के लिए 26 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला मत पेटियों में बंद हो गया। जिसमें सबसे ज्यादा 14 प्रत्याशी उत्तर प्रदेश से हैं। चुनावी भागमभाग में आरोप-प्रत्यारोप और राजनीतिक प्रतिद्वंदिता की गंदगी के बीच होने वाले चुनाव से इतर यह चुनाव शांतिपूर्वक रहा। इस मतदान की सबसे खास बात यह थी कि पूरे मतदान के दौरान सभी प्रत्याशी और समर्थकों के बीच न कोई नारेबाजी थी न कोई एक दूसरे पर आरोप लगा रहा था। न ही किसी के लिए कोई अपशब्द कह रहा था जबकि यह चुनाव कोई एक जिले का नहीं बल्कि कानपुर रीजनल कॉउंसिल के अतंर्गत आने वाले 6 प्रदेशों का था। जहां हजारों की संख्या में चार्टर्ड एकाउंटेंट मतदाता बड़ी शालीनता से मतदान स्थल पर आते रहे। जबकि आज के दौर में सभासद से लेकर छात्र संघ चुनाव और लोकसभा और विधानसभा के चुनाव हो या किसी भी तरह का प्रधानी चुनाव बगैर पुलिस के चुनाव सम्पन्न होने की कल्पना भी नहीं की जा सकती। ऐसे में हजारों वोटरों के इस चुनाव में एक भी सिपाही तो छोड़िए आसपास पुलिस की वर्दी तक दिखाई नहीं दे रही थी। यहां पर 5800 से ज्यादा चाटर्ड अकॉउन्टेन्ट मतदाताओं ने 6 रीजनल कॉउन्सिल और 1 सेंट्रल कॉउन्सिल के लिए 26 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला मतपेटी में कैद हो गया। इसकी मतगणना 11 दिसम्बर को होगी। यह चुनाव हर तीन साल बाद होते है। कानपुर छह प्रदेशों के रीजनल कॉउन्सिल का मुख्यालय है। मतदाताओं का कहना था कि राजनीतिक दलों और नेताओं को हमारे चुनाव से प्रेरणा लेनी चाहिये जो अपने चुनावो में एक दूसरे को अभद्र भाषा का प्रयोग करते हैं। एक दूसरे को आरोप-प्रत्यारोप लगाकर चरित्र हनन करते है क्योंकि चुनाव आपसी सद्भाव के लिए होते है न कि विरोध के लिए। चुनाव संयोजक दीप मिश्रा का कहना था कि हमारे चुनाव में कभी भी कोई प्रत्याशी एक दूसरे पर आरोप नहीं करता सिर्फ वोट मांगते हैं। हिन्दुस्थान समाचार/अजय/संजय
image