Hindusthan Samachar
Banner 2 शुक्रवार, दिसम्बर 14, 2018 | समय 06:06 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

छात्रा के साथ छेड़छाड़ करने वाले पड़ोसी को पांच वर्ष का कारावास

By HindusthanSamachar | Publish Date: Dec 8 2018 9:04PM
छात्रा के साथ छेड़छाड़ करने वाले पड़ोसी को पांच वर्ष का कारावास
सीहोर, 08 दिसम्‍बर (हि.स.)। द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश नवीन कुमार शर्मा ने कक्षा पांचवी की छात्रा के साथ छेड़छाड़ करने वाले पड़ोसी को पांच वर्ष का कारावास और 15 हजार रुपये के अर्थदंड से दंडित किया है। शनिवार को अभियोजन की ओर से जिला अभियोजन अधिकारी निर्मला चौधरी द्वारा पैरवी की गई। अभियोजन के अनुसार स्थानीय हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी निवासी कक्षा पांचवी की छात्रा के माता पिता 25 अक्टूबर 2017 को इछावर के समीप ग्राम ढाबला माता में रसोई के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए गए थे, घर पर अकेली होने के कारण छात्रा ने सामने का दरवाजा बंद रखते हुए सुबह साढ़े नौ बजे बर्तन साफ कर रही थी उसका पड़ोसी 42 वर्षीय अनुज कुमार आत्मज गुलाबचंद दुबे घर के पीछे वाले ग्वाड़े से जबरन घुस आया और कमरे में आकर छात्रा को पकड़ कर सोफे पर बैठा लिया, बुरी नीयत से उसके साथ गंदी हरकत करने लगा, जिसका छात्रा ने विरोध किया तो उसे चुप करा चला गया, थोड़ी देर बाद आकर बोला कि यह बात अपने माता पिता को नहीं बताना, शाम को जब छात्रा के माता पिता इछावर के ग्राम ढाबला माता से लौटे तो छात्रा ने सारा किस्सा बयां कर दिया। जिस पर उन्होंने कोतवाली पहुंच कर इस आशय की रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने अनुसंधान कर मामला अदालत में पेश किया। द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश नवीन कुमार शर्मा ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद आरोपी अनुज कुमार आत्मज गुलाबचन्द्र दुबे पर आरोप दोष सिद्ध पाते हुए धारा 8 लैगिंक अपराधों बालकों का सरंक्षण अधिनियम 2012 के अंर्तगत 5 वर्ष का कारावास और पांच हजार रुपए अर्थदंड, भादवि की धारा 354 के अंर्तगत 5 वर्ष का सश्रम कारावास और पांच हजार रुपए अर्थदंड, भादवि की धारा 452 के अंर्तगत 5 वर्ष का कारावास और पांच हजार रुपए अर्थदंड से दंडित किया। द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश नवीन कुमार शर्मा ने अपने आदेश में लिखा है कि पीडि़त छात्रा और आरोपी पड़ोसी थे और उनके मध्य पारिवारिक संबंध भी स्थापित थे, यदि ऐसे व्यक्ति को उदारता पूर्वक छोड़ा गया तो निश्चित रुप से किसी व्यक्ति की बेटी घर में सुरक्षित नहीं मानी जाएगी। हिन्‍दुस्‍थान समाचार/महेंद्र
image