Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, दिसम्बर 16, 2018 | समय 06:46 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

हनुमान जी ने लंका जलाकर दिया था संदेश - साध्वी निरंजन ज्योति

By HindusthanSamachar | Publish Date: Dec 8 2018 9:01PM
हनुमान जी ने लंका जलाकर दिया था संदेश - साध्वी निरंजन ज्योति
हमीरपुर, 08 दिसम्बर (हि.स.)। उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में शनिवार को केन्द्रीय राज्यमंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने रामलीला मैदान में विष्णु महायज्ञ में पहुंचकर पहले अपने गुरु महा मण्डलेश्वर युगपुरुष परमानंद महाराज को प्रणाम किया फिर प्रवचन देते कहा कि भगवान श्रीकृष्ण और राम हमारे आदर्श है। उन्होंने सीताहरण की मार्मिक कथा सुनायी तो श्रोता भावविभोर हो गये। जिले के राठ कस्बे में रामलीला मैदान में कथा के अंतिम दिन केन्द्रीय राज्यमंत्री साध्वी निरंजन ज्योति पहुंची। उन्होंने कहा कि जब मां सीता का अपहरण हो गया था, तब उनको ढूंढने के लिये हनुमान जी लंका गये थे। हनुमान जी ने माता सीता का तो पता लगाया ही था साथ ही में लंका भी जलाकर यह भी संदेश दिया था कि जब भगवान राम का सेवक इतना बलशाली है तो प्रभु श्रीराम कितने बलशाली होंगे। कथा में महा मण्डलेश्वर युगपुरुष स्वामी परमानंद महाराज ने इस भागवत कथा के माध्यम से बताया कि संसार में जो आया है उसे जाना ही पड़ेगा। लोग मरते तो रोज हैं जब निद्रा आती है तो हम मरे समान हो जाते हैं। जब कोई सोच विचार नहीं रहता है तो चिर निद्रा आती है तो हम सदैव के लिये सो जाते हैं। जिसने जन्म लिया है उसे जाना है जब बुलवा आता है तो उसे कोई रोक नहीं पाता है। मैं भी चलने की तैयारी कर रहा हूं। उन्होंने कहा कि नाम कुछ उल्टे सीधे हो जाते हैं और उनका नाम लेने में अच्छा महसूस नहीं होता है, लेकिन आज पढ़े लिखे लोग उस नाम को आज भूला नहीं पा रहे हैं। देश में तमाम नाम बदलने की जरूरत है। वहीं विश्णु महायज्ञ में भी भारी संख्या में महिलाऐं व पुरुष परिक्रमा के लिये आ रहे हैं। भागवत कथा में भागवतचार्य ज्योर्तियानंद जी ने भागवत कथा सुनायी तथा श्रोता कथा सुनकर भाव विभोर हो गये। विधायक ने दी अखण्ड परमधाम के लिये निधि राठ क्षेत्रीय विधायक मनीशा अनुरागी ने श्रीमद् भागवत कथा के दौरान रामलीला मैदान में परम पूज्य युग पुरुष पं0 परमानंद जी के द्वारा संचालित अखण्ड परमधाम आश्रम की इण्टरलांकिग न होने से अखण्ड परमधाम के आश्रम में भक्तगणों को जाने में दिक्कत का सामना करना पड़ता है, क्योंकि वहां का मैदान कच्चा है,इसलिये आश्रम तक जाने में लोगों को दिक्कत होती है। उनके द्वारा भागवत कथा के इस मंच से इण्टर लांकिग कराने में जो पैसा खर्च होगा मैं अपनी निधि से करूंगी। हिन्दुस्थान समाचार/पंकज/राजेश
image