Hindusthan Samachar
Banner 2 शनिवार, फरवरी 16, 2019 | समय 18:47 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

मुफलिसी में बिहार के खिलाड़ी - सरकार के पास खेल नीति नहीं: ब्रजकिशोर शर्मा

By HindusthanSamachar | Publish Date: Dec 8 2018 8:44PM
मुफलिसी में बिहार के खिलाड़ी - सरकार के पास खेल नीति नहीं: ब्रजकिशोर शर्मा
छपरा, 8 दिसम्बर (हि.स.)। राष्ट्रीय स्तर पर राज्य के लिए पदक जीत रहे खिलाड़ियों की सरकार के स्तर पर अनदेखी घोर निराशाजनक है ।यह बात हैंडबॉल फेडरेशन ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय संयुक्त सचिव सह बिहार फेडरेशन के महासचिव ब्रज किशोर शर्मा ने शनिवार को छपरा में पत्रकारों से कही ।वह छपरा के सीपीएस में आयोजित बिहार सब जूनियर बालक हैंडबॉल प्रतियोगिता में शिरकत करने पहुंचे हैं । हैंडबॉल फेडरेशन ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय संयुक्त सचिव सह बिहार फेडरेशन के महासचिव श्री शर्मा ने राष्ट्रीय स्तर पर बिहार हैंडबॉल खिलाड़ियों के उम्दा प्रदर्शन को लेकर खुशी जाहिर की । उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर राज्य के लिए पदक जीत रहे खिलाड़ियों की सरकार के स्तर पर अनदेखी हो रही है । यह घोर निराशाजनक है । श्री शर्मा ने बताया कि वर्ष 2011 में उन्हें राष्ट्रीय फेडरेशन द्वारा बिहार में हैंडबॉल के प्रचार और प्रसार की जिम्मेवारी सौंपी गई थी । उन्होंने बिहार में फेडरेशन की जमीन को तैयार कर खिलाड़ियों को तराशने का काम शुरू किया और जल्द ही राष्ट्रीय फलक पर बिहार के लिए पदक जीतने का गौरव प्राप्त किया। वर्ष 2012 में संगठन के प्रदेश महासचिव का पद प्राप्त हुआ जिसके बाद उत्तरोत्तर आगे बढ़ते रहने का क्रम जारी रहा। राष्ट्रीय स्तर पर बालक और बालिका वर्ग में स्वर्ण , रजत और कांस्य पदक जीतने वाला फेडरेशन अपने प्रतियोगिताओं के संचालन के लिए सरकारी मदद के बगैर समाज के निजी मदद से लगातार आगे बढ़ रहा है। वर्ष 2016 में राष्ट्रीय महिला खेल में स्वर्ण पदक जीत राष्ट्रीय स्तर पर बिहार का गौरव बढ़ाया है । वहीं हिमाचल प्रदेश में जूनियर बालिका प्रतियोगिता में इस वर्ष कांस्य पदक जीत अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाने में सफल रहे हैं। श्री शर्मा ने बिहार सरकार के खेल मंत्रालय के उदासीन रवैये पर निराशा जाहिर करते हुए बताया कि फेडरेशन के जिला इकाई की सहायता और उनकी जिजीविषा को सम्मान देता हूँ क्योकि उनके प्रयत्नों से ही प्रतियोगिताओं का संचालन संभव हो पाता है और विशेष सम्मान उन खेलप्रेमी नागरिकों को देता हूँ जिनके सहयोग से प्रतियोगिताओं का सफल संचालन हो पाता है। प्रेसवार्ता में शामिल सारण जिला हैंडबॉल के चेयरमैन सह आयोजन अध्यक्ष हरेंद्र सिंह ने बताया कि अध्ययन के अलावे शारीरिक प्रशिक्षण भी आवश्यक है। समाज और शिक्षा की मुख्य धारा से कटे बच्चो को भी इसमे शामिल कर उनके विकास को तरजीह देने का वक़्त है। खेल समाज मे अनुशासन बनाये रखने की पहली सीढ़ी है । उन्होंने कहा कि खेल से समाज भाई चारा को बढ़ावा मिलता है। इस मौके पर सारण जिला हैंडबॉल के अध्यक्ष कृष्ण मोहन सिंह, जिला सचिव संजय कुमार सिंह, कोषाध्यक्ष बासुदेव प्रसाद , विक्की आनंद , संजीव सिंह , मीडिया प्रभारी संतोष गुप्ता, जितेंद्र सिंह और समाज सेवी कामेश्वर प्रसाद सिंह उपस्थित थे। हिन्दुस्थान समाचार / गुड्डू/विभाकर
लोकप्रिय खबरें
चुनाव 2018
image