Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, दिसम्बर 10, 2018 | समय 12:49 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

जहरीली शराब कांड के मुख्य आरोपित को सीआईडी ने दबोचा

By HindusthanSamachar | Publish Date: Dec 8 2018 8:34PM
जहरीली शराब कांड के मुख्य आरोपित को सीआईडी ने दबोचा
कोलकाता, 08 दिसम्बर (हि.स.) । सीआईडी ने नदिया जिले के शांतिपुर में जहरीली शराब प्रकरण में मुख्य आरोपित को शनिवार सुबह गिरफ्तार किया है। इस घटना में जहरीली शराब पीने से 12 लोगों की मौत हो गयी थी और 24 घायल हुए थे। गिरफ्तार किए गए जीवन कृष्णपाल (48) बर्दवान जिले के सासपुर स्कूल पाड़ा का निवासी है। घटना के बाद पाल के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज की गई थी, लेकिन वह भूमिगत हो गया था। उस पर आरोप है कि नदिया जिले से गंगा नदी पार कर बर्दवान के कालना क्षेत्र में उसके यहां से जहरीली शराब की खेप शांतिपूर्ण ले जाई गई थी। उसे शनिवार सुबह छापेमारी कर गिरफ्तार किया गया। राणाघाट कोर्ट में पेश कर उसे पांच दिनों की सीआईडी रिमांड पर लिया गया है। उससे पूछताछ कर यह पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि आखिर वह जहरीली शराब कहां-कहां सप्लाई करता रहा है। सीआईडी के डीआईजी निशात परवेज ने बताया कि सुबह के समय बर्दवान जिले के कालना में ही कृष्णपाल की मौजूदगी की सूचना मिल गई थी जिसके बाद सादी वर्दी में पहुंची सीआईडी टीम ने स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर उसे धर दबोचा। उससे पूछताछ के बाद कई अन्य लोगों के बारे में खुलासा होने की संभावना है। गौरतलब है कि इस मामले में पहले ही छह लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। दरअसल वारदात के बाद जिला प्रशासन की ओर से दावा किया गया था कि दूसरे राज्यों से जहरीली शराब की खेप लाई जा रही थी। उसी को आधार बनाकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि पश्चिम बंगाल में दूसरे राज्यों से जहरीली शराब पहुंचाई जा रही है, जबकि स्थानीय लोग लगातार दावा कर रहे थे कि इसे कहीं और से नहीं बल्कि नदी पार कर पूर्व बर्दवान के कालाना से लाया गया है। कृष्णपाल की गिरफ्तारी के बाद यह साफ हो गया है कि जहरीली शराब की खेप किसी और राज्य से नहीं बल्कि दूसरे जिले से मंगाई गई थी। गत 29 नवम्बर को गणेश हालदार नाम के एक अन्य आरोपित को सीआईडी ने गिरफ्तार किया था, जो नदिया के शांतिपुर का रहने वाला है। उसने कालना से जहरीली शराब लाई थी। गत 28 नवम्बर शाम नदिया के शांतिपुर में जहरीली शराब पीने से 12 लोगों की मौत 24 घंटे के अंदर हो गई थी, जबकि 24 लोग अभी भी इलाजरत हैं। हिन्दुस्थान‌ समाचार/ओम प्रकाश/मधुप/पी.के.
image