Hindusthan Samachar
Banner 2 शुक्रवार, दिसम्बर 14, 2018 | समय 05:51 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

बुगालिया की ढाणी में जन सहभागिता कार्यक्रम का आयोजन

By HindusthanSamachar | Publish Date: Dec 8 2018 8:18PM
बुगालिया की ढाणी में जन सहभागिता कार्यक्रम का आयोजन
झुंझुनू,08 दिसम्बर(हि.स.)। बुगालिया की ढाणी में सदर थाना पुलिस की ओर से शनिवार को पुलिस जन सहभागिता कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम के दौरान पुलिस को सहयोग करने वाले व्यक्तियों को चिह्नित किया गया। पुलिस उपाधीक्षक ममता सारस्वत की उपस्थिति में आयोजित शिविर में गांव के प्रतिष्ठित व्यक्तियों ने भाग लिया। ग्राम अपराध पंजिका व अन्य पैण्डिंग कार्य से संबंधित रिकॉर्ड में अंकित सूचनाओं का सत्यापन किया गया व अपडेट की गई। पैण्डिंग कार्य का कार्यक्रम के दौरान मौके पर निस्तारण किया गया। गांव की समस्याओं के बारे मे विचार-विमर्श किया गया। पुलिस व जनता के बीच बेहतर संबंध और समन्वय की आवश्यकता के बारे में बताया गया व सहयोग की अपील की गई। विद्यालयों और अन्य स्थानीय महत्वपूर्ण संस्थाओं में नशा मुक्ति, अपराध नियन्त्रण, यातायात नियमों के पालना करने के संबंध में जागरूक किया गया। कार्यक्रम के दौरान स्थानीय मुद्दों और विवादों की जानकारी जुटाई गई। लोगों से स्थानीय पुलिसिंग सम्बन्धी आवश्यकताओं का पता लगाया गया। गांव में अपराध व कानून व्यवस्था की दृष्टि से संवेदनशील स्थल चिन्ह्ति किया जाकर सामुदायिक प्रयासों से कैमरे लगाने बाबत निवेदन किया गया तथा सी.सी.टी.वी. कैमरों का महत्व के बारे में बताया गया। पुलिस विभाग की ओर से संचालित ग्राम रक्षक दल, किशोर सशक्तिकरण, बाल मित्र पुलिस योजना, नशा मुक्ति अभियान, सीएलजी, सजग पड़ौसी योजना, स्टूडेन्ट पुलिस कैडेट योजना, छात्रा आत्मरक्षा कौशल योजना, महिला एवं बाल डेस्क, पुलिस परामर्श एवं सहायता केन्द्र इत्यादि जानकारी उपस्थित जनसमुदाय को दी गई। साईबर अपराध, सम्पत्ति संबंधी अपराध, लुभावने वादों से की जाने वाली धोखाधड़ी, एटीएम कार्ड बदलकर की जाने वाली धोखाधड़ी, वाट्सअप पर वायरल झूठे मैसेज से सावधानी, आदि से सम्बन्धित अपराध और उनके बचाव सम्बन्धी सावधानियों के बारे में लोगो कों जानकारी दी गई। कार्यक्रम के दौरान उपस्थित जन सहभागियों को यातायात नियमों की जानकारी दी गई। सड़क दुर्घटनों से बचाव व सावधानियों के बारे में समझाया गया। उपस्थित ग्रामवासियों को सोशल मीडिया वाट्सअप, फेसबुक, ट्विटर पर गलत सूचना दर्शाते मैसेज भेजने या फारवर्ड नहीं करने की हिदायत भी दी गई। हिन्दुस्थान समाचार / रमेश/संदीप
image