Hindusthan Samachar
Banner 2 शुक्रवार, दिसम्बर 14, 2018 | समय 05:46 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

कलेक्टर-एसपी ने मतगणना स्थल पहुंचकर तैयारियों को दिया अंतिम रूप

By HindusthanSamachar | Publish Date: Dec 8 2018 8:08PM
कलेक्टर-एसपी ने मतगणना स्थल पहुंचकर तैयारियों को दिया अंतिम रूप
देवास, 08 दिसम्बर (हि.स.)। कलेक्टर डॉ. श्रीकान्त पाण्डेय और पुलिस अधीक्षक अनुराग शर्मा शनिवार को केन्द्रीय विद्यालय स्थित मतगणना स्थल पहुंचे तथा मतों की गणना से संबंधित तैयारियों को अंतिम रूप देते हुए व्यवस्थाओं के संबंध में अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये। केंद्रीय विद्यालय में आगामी 11 दिसम्बर को सुबह 8.00 बजे से जिले की सभी पांचों विधानसभा क्षेत्रों की मतगणना का कार्य किया जायेगा। इस अवसर पर सीईओ जिला पंचायत राजीव रंजन मीणा, एडीएम नरेन्द्र सूर्यवंशी, एडिशनल एसपी अनिल पाटीदार, उप जिला निर्वाचन अधिकारी राजेन्द्र रघुवंशी, संयुक्त कलेक्टर शोभाराम सोलंकी, एसडीएम जीवनसिंह रजक, डिप्टी कलेक्टर नरेन्द्र धुर्वे, डीएसपी ट्रेफिक किरण कुमार शर्मा के अलावा विभिन्न विभागों के अधिकारीगण तथा मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के प्रतिनिधिगण उपस्थित थे। कलेक्टर डॉ. पाण्डेय तथा पुलिस अधीक्षक शर्मा ने सभी विधानसभा क्षेत्रों के लिए मतगणना हेतु तैयार किये गये कक्षों का निरीक्षण किया तथा प्रत्येक कक्ष में सुरक्षा हेतु जालियों की व्यवस्था, गणना कर्मियों की बैठक हेतु टेबल व कुर्सी की व्यवस्था, डाक मतपत्र की गणना हेतु टेबल, रिटर्निंग व सहायक रिटर्निंग अधिकारियों की टेबल व बैठक व्यवस्था, अभ्यर्थी/गणना अभिकर्ताओं की बैठक व्यवस्था के संबंध में व्यवस्थाओं को देखा तथा सुरक्षा को दृष्टिगति रखते हुए मजबूत जालियां के साथ ही प्रवेश व्यवस्था के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिये। उन्होंने स्ट्रांग रूम से मतगणना कक्ष तक सुरक्षा घेरे में मशीनों को ले जाने से संबंधित व्यवस्थाओं का भी अवलोकन किया व अधिकारियों को दिशा निर्देश दिये। निरीक्षण के दौरान उन्होंने मतगणना केन्द्र में प्रवेश से संबंधित व्यवस्थाओं का भी अवलोकन किया। मतगणना कर्मियों तथा अभ्यर्थी व उनके अभिकर्ताओं के प्रवेश के लिए अलग-अलग प्रवेश व्यवस्था की गई है। मतगणना कर्मी केन्द्रीय विद्यालय भवन मतगणना केन्द्र के सामने से प्रवेश करेंगे। वहीं अभ्यर्थी व उनके एजेंट मतगणना केन्द्र के पीछे से बनाये गये गेट से प्रवेश करेंगे। कलेक्टर डॉ. पाण्डेय ने मतगणना स्थल पर अस्थायी मेडिकल सेंटर की व्यवस्था करने तथा डॉक्टर व स्टॉफ की ड्यूटी लगाने के निर्देश दिये। उन्होंने दो एम्बुलेंस की व्यवस्था करने हेतु भी निर्देशित किया। मतगणना केन्द्र में साफ सफाई, शौचालयों की साफ सफाई तथा पेयजल व्यवस्था के संबंध में नगर निगम के अधिकारियों को निर्देशित किया गया। मतगणना परिसर में 50 डस्टबीन भी रखवाने के लिए कहा। मतगणना कर्मियों व सहायक स्टॉफ के लिए भोजन व्यवस्था के संबंध में भी चर्चा कर निर्देश दिये गये। कलेक्टर ने मतगणना परिसर में कानून व्यवस्था तथा सुरक्षा व्यवस्था हेतु नियुक्त कार्यपालिक दण्डाधिकारियों को भी आवश्यक निर्देश दिये और कहा कि कानून व्यवस्था में संलग्न अधिकारी गणना से संबंधित पूरी व्यवस्था की जानकारी रखें तथा जब तक गणना प्रक्रिया पूरी नहीं हो जाती तब तक अपने ड्यूटी स्थल नहीं छोड़ेंगे। मतगणना के दिन बीएनपी परिसर में केवल बीएनपी थाने के सामने वाले गेट से ही प्रवेश किया जा सकेगा। बिना पास के किसी को भी मतगणना परिसर में प्रवेश नहीं दिया जायेगा। मतगणना केन्द्र के अंदर मोबाइल ले जाना प्रतिबंधित रहेगा। अत: कोई भी मोबाइल लेकर नहीं आये। प्रेक्षकगणों की मौजूदगी में पूरी पारदर्शिता से होगी मतगणना जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. श्रीकान्त पाण्डेय ने शनिवार को अभ्यर्थियों, उनके निर्वाचन अभिकर्ताओं एवं गणना एजेंटों के लिए मतगणना संबंधी प्रशिक्षण में बताया कि विधानसभा निर्वाचन 2018 के तहत 11 दिसम्बर को केन्द्रीय विद्यालय बीएनपी परिसर में सुबह 8.00 बजे से मतगणना प्रारंभ होगी। मतगणना की शुरूआत डाक मतपत्रों की गणना से की जायेगी। मतगणना भारत निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए प्रेक्षकगणों की मौजूदगी में पूरी पारदर्शिता के साथ की जायेगी। सम्पूर्ण मतगणना प्रक्रिया की वेब कास्टिंग होगी। इसके लिये सभी विधानसभा क्षेत्रों के मतगणना कक्षों, स्ट्रांग रूम तथा अन्य स्थानों पर सीसीटीव्ही कैमरे लगाए जा रहे हैं, जहाँ से ईवीएम को गणना के लिए ले जाया जायेगा। इस अवसर जिला पंचायत के अतिरिक्त सीईओ राजेश दीक्षित सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे। प्रशिक्षण मास्टर ट्रेनर्स डॉ. अजय काले, डॉ. समीरा नईम एवं डॉ. एसपीएस राणा ने दिया। प्रशिक्षण में कलेक्टर ने बताया कि मतगणना के दौरान ईवीएम के कंट्रोल यूनिट पर रिजल्ट बटन दबाते समय गणना एजेंट को डिस्प्ले पैनल दिखाया जायेगा ताकि वे प्रत्येक प्रत्याशी के पक्ष में डाले गए मतों की संख्या देख का नोट कर सकें। यदि कोई एजेंट ईवीएम पर एक बार से अधिक रिजल्ट देखने की इच्छा व्यक्त करता है तो मतगणना सुपरवाइजर को उसके संतोष के लिए फिर से रिजल्ट दिखाने के लिए निर्देशित किया गया है। प्रशिक्षण में प्रत्याशियों के प्रतिनिधियों एवं गणना एजेंटों को विस्तारपूर्वक मतगणना की प्रक्रिया समझाई गई। डाकमत पत्रों को खोलना, मान्य एवं अमान्य करना तथा गणना करना एवं ईव्हीएम में पडे मतों की गणना करने का विस्तृत प्रशिक्षण मास्टर ट्रेनर द्वारा दिया गया। प्रशिक्षण में गणना के संबंध में भारत निर्वाचन आयोग द्वारा दिये गये दिशा-निर्देशों की जानकारी दी तथा उनकी शंकाओं का समाधान किया गया। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश
image