Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, नवम्बर 18, 2018 | समय 07:54 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

कार्यपालक पदाधिकारी के कारण प्रभावित है विकास: मुख्य पार्षद

By HindusthanSamachar | Publish Date: Nov 10 2018 11:02PM
कार्यपालक पदाधिकारी के कारण प्रभावित है विकास: मुख्य पार्षद
बेगूसराय,10 नवम्बर(हि.स.)। बेगूसराय जिला के बखरी नगर पंचायत के मुख्य पार्षद ने कार्यपालक पदाधिकारी पर कई संगीन आरोप लगाया है। मुख्य पार्षद सरिता देवी ने शनिवार को प्रेस वार्ता में कहा कि बखरी नगर पंचायत के विकास में नगर पंचायत के कार्यपालक पदाधिकारी ही अवरोध पैदा कर रहे हैं। विकास में दिलचस्पी लेने के बजाय मुख्य पार्षद की छवि खराब की जा रही है। आस्था और विश्वास के पर्व छठ में घाटों की साफ-सफाई और प्रकाश की व्यवस्था के लिए दस नवम्बर को सशक्त स्थाई समिति की बैठक बुलाने के लिए कार्यपालक पदाधिकारी को आठ नवम्बर को ही पत्र दिया गया था। लेकिन इस बैठक की सूचना उन्होंने सदस्यों को नहीं दिया। जिसकी वजह से महत्वपूर्ण बैठक नहीं हो सकी। मुख्य पार्षद के स्वीकृति के बगैर ही योजनाओं का चेक काटा जा रहा है। कोई जानकारी के लिए फोन भी रिसीव नहीं करते हैं। वार्ड में कचरा का अंबार लगा है। डोर टू डोर कचरा संग्रहण में लगी एजेंसी अपने दायित्व का निर्वहन नहीं कर रही है। कार्यपालक पदाधिकारी के वार्ड में देखने के बदले तेघड़ा में बैठकर चेक काटने से काम नहीं चलेगा। जनतंत्र में जनता मालिक होती है और जनता की हकमारी हम बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं। मुख्य पार्षद ने आरोप लगाया है कि कार्यपालक पदाधिकारी मेरी छवि खराब करने के लिए कुछ पार्षदों को दिग्भ्रमित कर उकसाने का काम कर रहे हैं। बोर्ड की बैठक में जिस मुद्दे पर चर्चा नहीं होती है, उसे भी प्रस्ताव में शामिल कर अपने लाभ और लोभ में हस्ताक्षर कराना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि हम कार्यपालक पदाधिकारी के गलत नीति का स्पोर्ट कर जेल जाने के लिए मुख्य पार्षद नहीं बने हैं। जिले के सभी नगर निकायों में सबसे अधिक इंदिरा आवास स्वीकृति कराने का कार्य नगर विकास विभाग से किया है। गलत तरीके से जो चेक कट रहा है उसके जिम्मेवार कार्यपालक होंगे। हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र/अरुण
image