Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, नवम्बर 18, 2018 | समय 11:12 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

भोजपुर के बहियारा में नवनिर्मित सूर्य प्रसाद छठ घाट के उद्घाटन समारोह की तैयारियां पूरी

By HindusthanSamachar | Publish Date: Nov 10 2018 11:03PM
भोजपुर के बहियारा में नवनिर्मित सूर्य प्रसाद छठ घाट के उद्घाटन समारोह की तैयारियां पूरी
आरा,10 नवम्बर (हि.स).भोजपुर जिले में पर्यटन के दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण और सोन नद के रमणीक छटाओं के बीच स्थित बहियारा गाँव आगामी 12 नवम्बर को एक यादगार समारोह का गवाह बनेगा.बहियारा सोन नद के किनारे नवनिर्मित सूर्य प्रसाद छठ घाट का उद्घाटन बिहार सरकार के नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा करेंगे और समारोह की अध्यक्षता भाजपा के राज्यसभा सांसद आर के सिन्हा करेंगे.राज्यसभा सांसद आर के सिन्हा की पहल पर यज्ञानंद बाग़ बहियारा में सूर्य प्रसाद छठ घाट के उद्घाटन को ले तैयारियां पूरी कर ली गई है और समारोह को ऐतिहासिक और यादगार बनाने को ले व्यापक स्तर पर तैयारी की गई है. बहियारा में छठ घाट का निर्माण हो जाने से यहाँ दूर दराज के क्षेत्रो से भी लोग छठ पूजा करने आ सकेंगे.छठ घाट के आसपास के इलाको को पार्क का रूप दिया जायेगा जहाँ लोग घुमने के लिए भी आ सकेंगे.सोन नद के किनारे बसे होने के कारण बहियारा गाँव की छटा देखते ही बनती है और इस इलाके को पर्यटन के मानचित्र पर लाने के लिए राज्यसभा सांसद आर के सिन्हा ने कदम बढ़ा दिया है.आगामी बारह नवम्बर को आम जनता के लिए समर्पित हो रहा सूर्य प्रसाद छठ घाट पर्यटन के क्षेत्र में बहियारा के विकास का पहला कारवां साबित होगा.इसके बाद भी इस क्षेत्र को पर्यटन के क्षेत्र में आगे लाने की कई बड़ी बड़ी योजनायें तैयार हो रही है.भविष्य में बहियारा पर्यटन का बड़ा केंद्र बनेगा. भाजपा के राज्यसभा सांसद आर के सिन्हा का यह अपना गाँव है और गाँव के पैत्रिक घर से बैठकर उन्होंने विकास की जो योजनायें तैयार की हैं वह अब सफल होते दिख रहा है. आगामी बारह नवम्बर को राज्यसभा सांसद आर के सिन्हा के गाँव बहियारा में जनसैलाब उमड़ेगा और लोग अपने गाँव से निकल कर राष्ट्रीय क्षितिज पर सूर्य की तरह प्रकाश बिखेर रहे एक महान विभूति की गाँव के प्रति समर्पण और सेवा भाव को अपनी आँखों से देखेंगे.गाँव और आसपास के लोग आर के सिन्हा के प्रति आभार व्यक्त करते नहीं थकते हैं और उन्हें अपने जनपद का भूमि पुत्र बताते हुए उन्हें संघर्ष से सफलता का उदाहरण बताते हैं. हिन्दुस्थान समाचार/डॉ.सुरेन्द्र/अरुण
image