Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, नवम्बर 18, 2018 | समय 11:40 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

जेल से इलाज के लिए जिला अस्पताल आए 14 बंदी

By HindusthanSamachar | Publish Date: Nov 10 2018 9:00PM
जेल से इलाज के लिए जिला अस्पताल आए 14 बंदी
देवरिया,10 नवम्बर (हि.स.)। जिला कारागार में बंद 14 बंदियों को इलाज के लिए शनिवार को जिला अस्पताल लाया गया। जहां चिकित्सकों ने देखने के बाद उनकी जांच कराकर दवा लिखी। अचानक 14 बंदियों के जिला अस्पताल पहुंचने पर लोगों की भीड़ लग गई। इमरजेंसी में बंदियों और पुलिस के पहुंचने से हड़कंप मचा रहा। काफी देर तक मरीजों का इलाज प्रभावित रही। जिला अस्पताल में देवरिया और कुशीनगर समेत एक दर्जन जिलों के लगभग 1650 बंदी और कैदी निरुद्ध हैं। जेल में कुछ बंदी बीमारी की शिकायत कर रहे थे। दीपावली में छुट्टी होने के चलते उनका इलाज जिला अस्पताल में नहीं हो पा रहा था। शनिवार को पुलिस लाइन में तैनात एसआई आरपी सिंह के नेतृत्व में कई पुलिस कर्मी 14 बंदी और कैदियों को वाहन से लेकर जिला अस्पताल पहुंचे। जहां बंदियों को उतारने के बाद एसआई ने एक-एक बंदी को एक आरक्षी और हेडकांस्टेबल को सौंप दिया। जिला अस्पताल पहुंचने पर पर्ची काउंटर बंद हो चुका था। पुलिस सभी बंदियों को इमरजेंसी पहुंची। जहां सभी बंदियों की पर्ची बनी और उन्हें अलग-अलग डॉक्टरों से दिखाया गया। डॉक्टरों ने अलग अलग बंदियों को जांच लिखा। एक्सरे, पैथोलोजी और दवा वितरण कक्ष बंद हो चुका था। पुलिस कर्मियों ने डॉक्टर से गुजारिश की तो एक्सरे कक्ष के कर्मचारी घर से वापस आए। कर्मचारियों ने एक्सरे कक्ष का ताला खोल डूल्ली मिश्रा, रामविजय, सुनिल यादव और लख्तू दूबे का एक्सरे किया। दवा वितरण कक्ष बंद होने के चलते बंदियों को दवा नहीं मिल सका। पुलिस सभी बंदियों को वापस जेल ले गई। जेल में सुबह हुई चेकिंग जेल में शनिवार की सुबह रुटीन चेकिंग हुई। प्रशासन चेकिंग में संदिग्ध सामान नहीं मिलने की बात कह रहा है। जबकि जिला अस्पताल में इलाज कराने आये एक बंदी ने बताया कि जेल में बड़े पैमाने पर मोबाइल का उपयोग हो रहा है। शनिवार को चेकिंग के दौरान ही चार मोबाइल बरामद हुए। इसके साथ ही जेल के अंदर 20 से 30 रुपये में गुटखा बिकवाने की बात भी उसने बतायी। ज​बकि जेल अधीक्षक दिलीप पाण्डेय ने इसे निराधार बताया है। हिन्दुस्थान समाचार/ज्योति/संजय
image