Hindusthan Samachar
Banner 2 शनिवार, नवम्बर 17, 2018 | समय 00:14 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

भाजपा की योजनाओं की नकल है कांग्रेस के वचन-पत्र में : भाजपा

By HindusthanSamachar | Publish Date: Nov 10 2018 8:49PM
भाजपा की योजनाओं की नकल है कांग्रेस के वचन-पत्र में : भाजपा
भोपाल, 10 नवम्‍बर (हि.स.)। कांग्रेस ने अपने वचन-पत्र के 973 बिंदुओं में जो बातें कही हैं, वे नए शब्दों में पिरोकर प्रदेश की भाजपा सरकार की योजनाओं और नीतियों की ही नकल हैं। कांग्रेस के इस वचन-पत्र में कोई दृष्टि नहीं है और इससे कांग्रेस की झूठ को फैलाने की आदत है। यह बात प्रदेश भाजपा के मुख्य प्रवक्ता डॉ. दीपक विजयवर्गीय ने शनिवार को मीडिया से चर्चा के दौरान कही। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का यह वचन-पत्र प्रदेश की जनता पर कोई प्रभाव नहीं डालेगा। उन्होंने कहा कि वचन-पत्र के 973 में से 750 बिंदु भाजपा सरकार की नीतियों की ही नकल है। उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस के वचन-पत्र में गोशाला खोलने के बारे में प्रावधान किया गया है, जबकि यह समस्या कांग्रेस की ही पैदा की हुई है। उन्होंने कहा कि गौवंश की इस दुर्दशा के लिए कांग्रेस ही जिम्मेदार है और अब वह गोशाला खोलने की बात कर रही है। उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस की दिग्विजयसिंह सरकार ने ही प्रदेश में गोचर भूमि की व्यवस्था समाप्त करके गायों के लिए चारा उपलब्ध कराने वाली लाखों एकड़ जमीन उनसे छीन ली थी। उन्होंने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार ने गो-अभ्यारण्य बनाया, गौ संरक्षण के लिए बजट बढ़ाया और गौवंश के संरक्षण के लिए अधिक प्रभावी कानून भी बनाए हैं। कांग्रेस के वचन-पत्र में सिंचाई को लेकर किए गए प्रावधानों के बारे में डॉ. विजयवर्गीय ने कहा कि प्रदेश में सिंचाई के लिए कांग्रेस की सरकारों ने कोई काम नहीं किया। पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुनसिंह के क्षेत्र की बाणसागर परियोजना 1978-79 की थी। इसके बाद 2003 तक प्रदेश में कांग्रेस की सरकार रही, लेकिन इस परियोजना को पूरा नहीं कर पाई। बाद में भाजपा की सरकार ने 30 साल बाद इस परियोजना का काम पूरा कराया। उन्होंने कहा कि 1956 से लेकर 2003 तक प्रदेश की कांग्रेस सरकारों ने सिर्फ 7.5 लाख हेक्टेयर में सिंचाई की व्यवस्था की थी, जिसे भाजपा के 15 सालों के शासन में 41 लाख हेक्टेयर तक पहुंचा दिया गया है और इसे 80 लाख हेक्टेयर तक पहुंचाने की योजना बनाई जा रही है। उन्होंने कहा कि सिंचाई को लेकर वचन-पत्र में कांग्रेस ने जो बातें कही हैं, वह भाजपा सरकार की योजनाओं में आंकड़े जोड़ने जैसी हैं। उन्‍होंने कहा कि अपने वचन-पत्र के साथ ही कांग्रेस को यह बताना चाहिए कि 1956 से 2003 तक कांग्रेस की सरकारों ने क्या किया ? उन्होंने कहा कि वर्ष 2003 में प्रदेश की 36 जिला केंद्रीय सहकारी बैंकों में से आधी से ज्यादा बैंकों के लायसेंस कैंसिल होने की स्थिति थी, भाजपा सरकार ने उनकी सेहत सुधारी और इन बैंकों ने 15 हजार करोड़ के फसल ऋण बांटे हैं। वर्ष 2003 तक प्रदेश में 44,500 कि.मी.सड़कें थीं, जिन पर सड़क से ज्यादा गड्ढे थे। भाजपा सरकारे ने सवा लाख कि.मी. सड़कें बनाई। डॉ. विजयवर्गीय ने कहा कि संविदाकर्मियों का चलन दिग्विजयसिंह की सरकार के समय शुरू हुआ। हमारी सरकार ने तो इनका वेतन 500 प्रतिशत तक बढ़ाने का काम किया है। उन्‍होंने कहा कि वास्तव में कांग्रेस पिछड़े वर्ग के लोगों की भलाई नहीं चाहती, बल्कि उन्हें दबाना चाहती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के दिवंगत नेता सुभाष यादव , शिवभानुसिंह सोलंकी और अरविंद नेताम के साथ पार्टी ने कैसा व्यवहार किया, यह सब को पता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को यह बताना चाहिए कि काका कालेलकर और मंडल आयोग की रिपोर्ट पर कांग्रेस ने क्या कदम उठाए। वचन-पत्र में एडव्होकेट और पत्रकारों के बारे में किए गए प्रावधानों पर उन्होंने कहा कि भाजपा ने पहले ही एडव्होकेट प्रोटेक्शन एक्ट लागू कर दिया है और पत्रकारों को श्रद्धानिधि देने की शुरुआत भी प्रदेश में हो चुकी है। हिन्‍दुस्‍थान समाचार/राजू
image