Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, नवम्बर 18, 2018 | समय 23:40 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

सिग्नेचर ब्रिज मामले में केजरीवाल पर प्राथमिकी दर्ज होने से आप खफा

By HindusthanSamachar | Publish Date: Nov 10 2018 7:56PM
सिग्नेचर ब्रिज मामले में केजरीवाल पर प्राथमिकी दर्ज होने से आप खफा
नई दिल्ली, 10 नवंबर (हि.स.)। सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन समारोह में सत्ताधारी और विपक्षी दल के बीच धक्का-मुक्की व हाथापाई का मामला शांत होता नहीं दिख रहा है। इस मामले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और विधायक अमानतुल्लाह खान के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज होने से आम आदमी पार्टी (आप) खासी नाराज है। पार्टी का आरोप है कि 4 नवंबर को सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन समारोह में बिन बुलाए पहुंचे मनोज तिवारी और उनके समर्थकों ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर पानी की बोतलें फेंकी और आप कार्यकर्ताओं के साथ-साथ पुलिस से भी मारपीट की। बावजूद पुलिस ने तिवारी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज नहीं की। आप के नेता राघव चड्डा ने शनिवार को संवाददाता सममेलन में कहा कि सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन वाले दिन सांसद मनोज तिवारी ने किस प्रकार से गुंडागर्दी की, मुख्यमंत्री पर हमला किया, पुलिस को पकड़-पकड़ कर पीटा। इस पूरे प्रकरण में दिल्ली पुलिस ने मनोज तिवारी पर कोई कार्रवाई नहीं की उल्टा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर प्राथमिकी दर्ज कर दी। उन्होंने कहा कि आप का एक प्रतिनिधिमंडल शुक्रवार को दिल्ली पुलिस कमिश्नर से मिला और उनको मनोज तिवारी के खिलाफ लिखित में कंप्लेंट सौंपी। इस पर कमिश्नर का कहना था कि मेरी पुलिस अधिकारियों से बात हुई वह अधिकारी कह रहे हैं कि हमें नहीं मारा। यह चौंका देने वाला बयान कमिश्नर ने हमें दिया। सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन वाले दिन सांसद मनोज तिवारी का दुर्व्यवहार पूरे देश ने न्यूज चैनलों, अखबारों के माध्यम से देखा। फिर भी प्राथमिकी मनोज तिवारी पर नहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री पर दर्ज कर दी गई। दिल्ली पुलिस की ये मंशा दिखाती है कि भाजपा के अंदर आप का कितना खौफ है। क्या दिल्ली पुलिस की जिम्मेदारी नहीं बनती कि लोकतांत्रिक ढंग से चुने मुख्यमंत्री की रक्षा करें। उन्होंने सवाल किया कि क्या इस देश में चुने हुए मुख्यमंत्री पर हमला करने की आजादी है। हिन्दुस्थान समाचार/सुशील/पी.के.
image