Hindusthan Samachar
Banner 2 बुधवार, दिसम्बर 12, 2018 | समय 15:59 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

दुमका में 1.99 करोड़ की लागत से बनेगा खादी पार्क

By HindusthanSamachar | Publish Date: Oct 13 2018 9:54PM
दुमका में 1.99 करोड़ की लागत से बनेगा खादी पार्क
दुमका/रांची, 13 अक्टूबर (हि.स.)। दुमका में प्रस्तावित खादी पार्क का वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ भूमि पूजन शनिवार को सम्पन्न हुआ। भूमि पूजन में समाज कल्याण मंत्री लुइस मरांडी, झारखण्ड राज्य खादी बोर्ड के अध्यक्ष संजय सेठ उपस्थित थे। खादी पार्क का 01 करोड़ 99 लाख की लागत से निर्माण किया जाएगा, जिसमें 01 करोड़ 57 लाख की लागत से खादी पार्क के भवन का निर्माण किया जाएगा तथा 42 लाख की लागत से बाउंड्रीवॉल का निर्माण का कार्य किया जाएगा। बीएसएनएल के द्वारा उक्त कार्य को किया जाएगा। 15 अगस्त,2019 तक निर्माण कार्य को पूर्ण करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। मौके पर समाज कल्याण मंत्री लुइस मरांडी ने कहा कि दुमका के लोगों के साथ-साथ संथाल परगना के लोगों के लिए आज का दिन ऐतिहासिक है। खादी पार्क के निर्माण से यहां के लोगों को रोजगार के कई नए अवसर प्राप्त होंगे। उन्होंने कहा कि सरकार दुमका और संथाल परगना के सर्वांगीण विकास के लिए कृत संकल्पित है। सरकार ने हर दिन इतिहास में विकास के एक नए अध्याय को जोड़ने का कार्य किया है। उन्होंने कहा कि मोमेंटम झारखंड की तर्ज पर सरकार ने छोटे-बड़े उद्योग को स्थापित करने का कार्य किया है, जिससे यहां के युवाओं को रोजगार मिल रहा है। समाज कल्याण मंत्री ने कहा कि सरकार महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़कर आत्मनिर्भर बनाने का कार्य कर रही है। दुमका, राज्य में सिल्क के उत्पादन में अपना पहला स्थान रखता है। यहां की महिलाओं को सिल्क के निर्माण से जोड़ा जा रहा है। उन्हें आत्मनिर्भर बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार ने जितने भी वादे लोगों से किए थे, सभी को पूरा करने का कार्य किया गया है। केंद्र सरकार तथा राज्य सरकार ने लोगों के दर्द को समझा है। सरकार ने विभिन्न योजनाओं के माध्यम से लोगों के चेहरे पर खुशहाली लाने का कार्य किया है। मुझे विश्वास है कि खादी पार्क ससमय बनकर तैयार हो जाएगा। स्थानीय लोग इस निर्माण कार्य में सहयोग करें। खादी पार्क के निर्माण से आप सभी के जीवन में निश्चित रूप से बदलाव आएगा। झारखण्ड राज्य खादी बोर्ड के अध्यक्ष संजय सेठ ने कहा कि खादी पार्क संथाल परगना तथा दुमका के लिए किसी उपहार से कम नहीं है। 10 महीनों के अंदर खादी पार्क के निर्माण कार्य को पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। बहुत जल्द निर्माण कार्य प्रारंभ हो जाएगा। इस नवनिर्मित खादी पार्क में संग्राहलय, ट्रेनिंग सेंटर, प्रोडक्ट सेंटर होगा। साथ ही इस नवनिर्मित भवन में तसर के धागे का उत्पादन कार्य तथा तसर के साड़ी के उत्पादन का कार्य भी प्रारंभ हो जाएगा। संजय सेठ ने कहा कि महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ने का कार्य किया जा रहा है। सिलाई ट्रेनिंग की 38 योजनाएं पूरे झारखंड में चल रही हैं। छह महीने की ट्रेनिंग के उपरांत महिलाओं को 20 हजार की मशीन पांच हजार में उपलब्ध कराई जाती है। टेराकोटा, लाह, मधुमक्खी पालन जैसे कार्यों से जोड़कर उनके जीवन स्तर में सुधार लाने का कार्य किया जा रहा है। अब तक 1500 मधुमक्खी बक्सों को वितरित किया गया है तथा सात दिनों की मधुमक्खी पालन की ट्रेनिंग दी जा रही है। उन्होंने कहा कि मधुमक्खी पालन कर एक किसान को एक वर्ष में 60 हजार से 70 हजार की अतिरिक्त आय होती है। माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर पूरे झारखंड में मीठी क्रांति आ चुकी है। बहुत जल्द 10 हजार मधुमक्खी पालन के बक्सों को किसानों के बीच वितरित किया जाएगा ताकि उनके जीवन स्तर में सुधार आए। यहां के किसानों के द्वारा उत्पादित मधु को ‘अमृता‘ के नाम से बाजार में बेचा जाएगा। हिन्दुस्थान समाचार/विकास/महेश/वीरेन्द्र/आकाश
image