Hindusthan Samachar
Banner 2 बुधवार, दिसम्बर 12, 2018 | समय 14:47 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

एक वर्ष बाद दिशा को वापस मिला उसका परिवार

By HindusthanSamachar | Publish Date: Oct 13 2018 9:41PM
एक वर्ष बाद दिशा को वापस मिला उसका परिवार
अलीपुरद्वार, 13 अक्टूबर (हि. स.)। आखिरकार एक वर्ष बाद नन्ही दिशा को उसका खोया हुआ परिवार मिल गया। शनिवार को दिशा अपने मामा के घर लौट गई। अब दिशा का नया पता अलीपुरद्वार जिले के कुमारगंज ब्लॉक के तूततूरी ग्राम होगा। जन्म से लेकर शुक्रवार तक दिशा अलीपुरद्वार अस्पताल के शिशु विभाग में थी। यहीं नन्ही दिशा ने एक साल बिता दिया। इसलिए दिशा को उसकी 11 मातायें (अस्पताल के शिशु विभाग के 11 नर्सें) उसके अस्पताल से अपने मामा के घर चले जाने पर दुखी हैं। वर्ष 2017 के अक्टूबर महीने में अलीपुरद्वार अस्पताल में दिशा का जन्म हुआ था। संतान के प्रसव के बाद दिशा की मां का देहांत हो गया था। उसके बाद से दिशा अस्पताल में ही थी। उसके लालन-पालन की जिम्मेवारी शिशु विभाग के 11 नर्सों ने उठायी थी। गत चार महीने पहले अस्पताल में ही दिशा का अन्नप्राशन भी हुआ था। एक स्वयंसेवी संस्था के प्रयास से दिशा के मामा के घर का पता मिला। दिशा के पिता का नाम, पता, परिचय कुछ भी ज्ञात नहीं है। हो सकता है कि कभी पता भी न चले। स्थानीय सूत्रों के अनुसार दिशा की मां मानसिक रोगी थी। कई बार उसके साथ दुष्कर्म हुआ था। जिसके कारण वह गर्भवती हो गयी थी। दिशा की मां ने इससे पहले भी एक पुत्र संतान को जन्म दिया था। अब वह पुत्र संतान दिशा के मामा के पास है। दिशा भी शनिवार को अपने मामा के पास चली गयी। दिशा के मामा ने बताया, "चाहे जितना भी कष्ट क्यों न हो जिस प्रकार दिशा के भाई राज को पाल पोस कर बड़ा किया है। उसी प्रकार दिशा को भी एक अच्छा इंसान बनाएंगे।" अस्पताल के सुपरिंटेंडेंट चिन्मय बर्मन ने कहा, "दिशा के जाने से अस्पताल के सभी लोग दुखी हैं। फिर भी उसे अपना घर मिल गया। यह उसके लिए अच्छी बात है। हम उसके उज्जवल भविष्य की कामना करते हैं।" हिन्दुस्थान समाचार/धनंजय/पवन
image