Hindusthan Samachar
Banner 2 बुधवार, फरवरी 20, 2019 | समय 19:17 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

फूड सेफ्टी टीमों को रखा गया है हाई अलर्ट पर: पन्नू

By HindusthanSamachar | Publish Date: Oct 13 2018 8:45PM
फूड सेफ्टी टीमों को रखा गया है हाई अलर्ट पर: पन्नू
मिठाई की दुकानों और कोल्ड स्टोरों की राज्य स्तरीय जांच ज़ोरों पर चंडीगढ़, 13 अक्टूबर (हि.स.)। आगामी त्योहारों के सीजन में घटिया किस्म की मिठाइयों की बिक्री के विरुद्ध एक सावधानी के मापदंड के तौर पर फूड सेफ्टी टीमों को हाई अलर्ट पर रखा गया है। अपनी रोज़ाना की जांच कार्यवाहियों के साथ-साथ उनको दूध और दूध उत्पादों और खोया की बड़े स्तर पर बिक्री पर नियमित तौर पर नजऱ रखने के निर्देश दिए गए हैं। यह जानकारी फूड सेफ्टी कमिशनर, पंजाब केएस पन्नू ने दी। पन्नू ने कहा, ‘यह आम धारणा है कि त्योहारों के सीजन से पहले हलवाइयों द्वारा दूसरे राज्यों से घटिया गुणवत्ता का खोया सस्ते भाव पर खरीद कर कोल्ड स्टोरों में भंडार कर दिया जाता है। इसलिए हम राज्य भर के कोल्ड स्टोरों पर लगातार निगरानी रख रहे हैं। साथ ही मालिकों पर भी नजऱ रखी जा रही है, जिससे वह नकली वस्तुओं को स्टोर न कर सकें।’ जांच मुहिमों से सम्बन्धित विवरण देते हुए सीएफडीए ने बताया कि कपूरथला में 4 कोल्ड स्टोरों, बठिंडा में 7, होशियारपुर में 6, जालंधर में 6, संगरूर में 5, बरनाला में 2, पटियाला में 2, श्री मुक्तसर साहिब में 3, फाजिल्का में 2, अमलोह में 5, फरीदकोट/कोटकपूरा क्षेत्र में 2 और पठानकोट में 2 कोल्ड स्टोरों की जांच की गई है। फूड सेफ्टी विंग पठानकोट को अमन कोल्ड स्टोर में छापेमारी के दौरान तकरीबन 1.5 क्विंटल बदबूदार खोया मिला, जिसको स्टोर किये 01 से ज़्यादा साल हो चुका था। इसका संबंध शाहपुर चौंक, पठानकोट में स्थित मिठाई की दुकान-मालिक के साथ है। टीम द्वारा नमूने लेकर खोया नष्ट कर दिया गया जो खाने योग्य नहीं था। इसी जगह 3.72 क्विंटल फैट सपरैड भी मिला जिसको कि मक्खन के तौर पर बेचा जाता है और इसका संबंध बालाजी इंटरप्राइज़ के साथ है। टीम द्वारा फैट सपरैड के नमूने लेकर सारा स्टाक ज़ब्त कर लिया गया। इसी तरह अमृतसर में 2 बरैड निर्माण इकाईयों की जांच के बाद उचित सफ़ाई प्रबंधों और एफ.एस.एस.ए.आई. लाईसेंस की अनुपस्थिति के कारण इन इकाईयों को सील कर दिया गया। करीम रोलज़, बंद और बरैडों में फफूंद लगी पाई गई। प्रोसेसिंग में बिल्कुल घटिया गुणवत्ता का घी, मैदा और चेरी और अन्य घटिया सामग्री इस्तेमाल की जा रही थी। फतेहगड़ कालोनी, अनंगड़, अमृतसर में बिना लाईसेंस चलाई जा रही सोडा निर्माण इकाई को भी सील कर दिया गया है। इसी तजह श्री गोइन्दवाल साहिब, तरन तारन में एक खऱाब वाटर पैकिंग यूनिट को भी सील कर दिया गया है। अन्य स्थानों पर अधिक पके हुए फलों और नकली दूध जब्त किया गया और नमूने लेने के बाद इसको नष्ट कर दिया गया। पन्नू ने कहा कि घटिया किस्म के भोजन पदार्थों के उत्पादन और बिक्री पर रोक को यकीनी बनाने के लिए यह जांच मुहिम और मिलावटखोरों के खि़लाफ़ सख्त कार्यवाही जारी रहेगी। हिन्दुस्थान समाचार/संजीव/आकाश
लोकप्रिय खबरें
चुनाव 2018
image