Hindusthan Samachar
Banner 2 गुरुवार, नवम्बर 15, 2018 | समय 17:41 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

आज रात से रोडवेज बसों के पहिए जाम!

By HindusthanSamachar | Publish Date: Sep 16 2018 8:58PM
आज रात से रोडवेज बसों के पहिए जाम!
हनुमानगढ़, 16 सितम्बर (हि.स.)। जिला मुख्यालय पर स्थानीय आगार के समक्ष राजस्थान रोडवेज संयुक्त मोर्चा की ओर से मांगोंं के समर्थन में रविवार को दूसरे दिन बेमियादी धरना जारी रहा। संयुक्त मोर्चा की ओर से राज्य सरकार की कथित रोडवेज कर्मचारी विरोधी नीतियों व पूर्व में हुए समझौते लागू नहीं किए जाने के विरोध में प्रदेश स्तरीय आह्वान पर शनिवार को स्थानीय रोडवेज आगार के समक्ष धरना शुरू किया गया। रोडवेज सयुंक्त कर्मचारी संघर्ष समिति के बैनर तले इस आंदोलन में इंटक, एटक, सीटू व बीजेएम यूनियनों सहित रिटायर कर्मचारी एसोसिएशन सदस्य शामिल हैं। रविवार को दूसरे दिन दलीपसिंह अध्यक्षता में कल्याण समिति अध्यक्ष दरवेश गोयल, रिटायर कर्मचारी एसोसिएशन अध्यक्ष देवदत्त स्वामी सहित यूनियनों के प्रतिनिधि पृथ्वीराज महला, नायब सिंह, महावीर जोशी, जगदेश राय, जगदेव सिंह, देवेन्द्र सिंह सहित 33 जने धरने पर बैठे। धरना स्थल पर सभा में कर्मचारी नेता नायबसिंह ने अगस्त 2018 तक के बकाया 121 करोड़ 19 लाख रुपए राज्य सरकार की ओर से तुरंत रोडवेज को जारी करने व भविष्य में नियमित रूप से राशि देने सहित नाकारा हो चुकी बसों को बदलने के लिए रोडवेज को तुरंत आर्थिक सहायता देने, रोडवेज श्रमिकों को राज्य सरकार के समान सातवें वेतन आयोग के अनुरूप वेतनमान,पेंशन व भत्ता देने, सभी वर्ग के रिक्त पदोंं पर भर्ती करने की मांग फिर दोहराई। उन्होंने कहा कि आंदोलन के बाद 27 जुलाई को राज्य के परिवहन मंत्री यूनुस खान की अध्यक्षता में सरकार के अधिकारियों व रोडवेज के संयुक्त मोर्चा प्रतिनिधियों के बीच वार्ता में मांगों पर जल्द कार्रवाई करने का समझौता हुआ मगर लगभग दो माह बीतने के पश्चात भी समझौते पर अमल नहीं कर सरकार रोडवेज कर्मचारियों से वादाखिलाफी कर रही है। इस कारण प्रदेश नेेतृत्व के आह्वान पर रोडवेज कर्मचारियों को मजबूरन पुन: आंदोलन शुरू करना पड़ा है। उन्होंने अब बहकावे में नही आने और पूर्व में हुए समझौते पर अमल होने तक आंदोलन जारी रखने की बात कही। उन्होने कहा कि इस धरने के बाद भी समझौते पर अमल नहीं होता तो रविवार को आधी रात से अनिश्चित काल के लिए बसों का चक्का जाम किया जाएगा। सिंह सहित अन्य यूनियन नेताओं ने रोडवेज का अस्तित्व बचाने के संघर्ष में जनता से सहयोग व समर्थन देने का आग्रह भी किया। हिन्दुस्थान समाचार/ प्रणय/ ईश्वर
image