Hindusthan Samachar
Banner 2 बुधवार, सितम्बर 26, 2018 | समय 12:17 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

एनजीटी ने खनुआ नाला अतिक्रमण हटाने के मामले में डीएम से रिपोर्ट तलब

By HindusthanSamachar | Publish Date: Sep 16 2018 8:26PM
एनजीटी ने खनुआ नाला अतिक्रमण हटाने के मामले में डीएम से रिपोर्ट तलब
छपरा, 16 सितंबर (हि.स.)। छपरा शहर के ऐतिहासिक खनुआ नाला से अतिक्रमण हटाने के मामले में एनजीटी ने डीएम से रिपोर्ट तलब किया है और अतिक्रमण नहीं हटाने के लिए डीएम को दोषी माना जायेगा। राष्ट्रीय ग्रीन ट्रिब्यूनल के प्रधान और चार सदस्यों वाली पूर्ण खंडपीठ ने पूर्व में आदेश खनुआ नाला से अतिक्रमण हटाने का आदेश दिया था । अतिक्रमण हटाने के आदेश का अनुपालन नहीं होने पर वेटर्ंस फोरम फॉर ट्रांसपेरेंसी इन पब्लिक लाइफ ने याचिका दायर की । इस पर सुनवाई करते हुए एनजीटी ने कहा है कि पहले के आदेश पर नगर निगम की ओर से क्या कार्रवाई हुई है, डीएम रिपोर्ट दाखिल करें। एनजीटी के आदेश का अगर अनुपालन नहीं हुआ है तो, इसके लिए डीएम दोषी होंगे। बताते चलें कि छपरा नगर निगम ने एनजीटी के आदेश के बावजूद अब तक खनुआ नाला को पुनर्जीवित एवं पुनरुद्धार करने की कार्रवाई नहीं की है। सुनवाई के उपरांत कुछ महत्वपूर्ण आदेश पारित किया है । जिलाधिकारी को भी जवाबदेह बनाते हुए उचित दंडात्मक कार्यवाई की बात की गई है। वेटर्ंस फोरम फॉर ट्रांसपेरेंसी इन पब्लिक लाइफ द्वारा वर्ष 2015 में खनुआ नाला को अतिक्रमण मुक्त करने एवं इसे पुनर्जीवित करने के लिए राष्ट्रीय ग्रीन ट्रिब्यूनल में एक याचिका दायर की गयी थी | इस मामले में वर्ष 2016 के अक्टूबर माह में ट्रिब्यूनल ने एक आदेश पारित किया था जिसमें खनुआ नाला को पुनर्जीवित करने का आदेश दिया गया था। 2017 के अक्टूबर माह में नगर निगम ने शपथ देकर 2 माह के समय की मांग की थी। इस मामले को निष्पादित करते हुए दिए गए शपथ पत्र के अनुसार नगर निगम को कार्य करने का आदेश एनजीटी ने दिया था । लेकिन कई महीने बीत जाने के बावजूद जमीनी स्तर पर कोई भी कार्रवाई नहीं हुई है । वेटरन्स फोरम ने आदेश पालन याचिका दायर की है। वेटरन फोरम और भूतपूर्व सैनिक सैनिक कल्याण संघ के अध्यक्ष रमेश प्रसाद सिंह एवं सचिव अशोक कुमार सिंह, सारण जिला बुद्धिजीवी मंच के प्रो पृथ्वीराज सिंह ने हर्ष व्यक्त किया है और कहा कि खनुआ नाला शहर की जीवन रेखा है । इस पर अतिक्रमण कर सरकार ने दुकानें बनायी है । उन्होंने आशा व्यक्त की है कि नए जिलाधिकारी के नेतृत्व में इस बार खनुआ नाले को अवश्य ही अतिक्रमण मुक्त और पुनर्जीवित किया जाएगा। हिन्दुस्थान समाचार / गुडडू /शंकर
image