Hindusthan Samachar
Banner 2 बुधवार, सितम्बर 26, 2018 | समय 14:30 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

निर्धारित समय में वन अधिकार पत्र के आवेदनों का निराकरण करें - कलेक्टर

By HindusthanSamachar | Publish Date: Jul 14 2018 12:24PM
निर्धारित समय में वन अधिकार पत्र के आवेदनों का निराकरण करें - कलेक्टर
कवर्धा, 14 जुलाई (हि.स.) । कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने राज्य शासन के मंशानुरूप कबीरधाम जिले में इस वर्ष वितरण होने वाले वन अधिकार मान्यता पत्र के आवेदन से लेकर उनके निराकरण तक पूरी प्रक्रिया को गंभीरतापूर्वक निराकरण के लिए राजस्व और वन विभाग के अधिकारियों को सक्त निर्देश दिए है। कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने शनिवार को राजस्व अधिकारियों की बैठक लेकर इस संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए है। इस वर्ष वन अधिकार मान्यता पत्र के आवेदन प्राप्त करने से लेकर उसके निराकरण तक पूरी प्रक्रिया को पांच चरणों विभाजित किया गया है। वन अधिकार मान्यता पत्र के लिए आवेदन लेने की प्रक्रिया 16 जुलाई से प्रारंभ होगी और 31 अगस्त तक निराकरण किया जाएगा। प्रत्येक चरणों को पूरा करने के लिए निश्चित समय अवधि निर्धारित की गई है। प्रथम चरण 16 से 23 जुलाई के मध्य होगा। इस अवधि में ग्राम स्तरीय वनाधिकार समिति द्वारा आवेदन प्राप्त किया जाएगा। आवेदन के साथ उपबन्ध 1,2,3,4 जाति प्रमाण पत्र, निवास प्रमाण, वंश वृक्ष देना अनिवार्य है। दूसरा चरण 24 जुलाई से 6 अगस्त के मध्य निर्धारित है। इस अवधि में स्थल जांच प्रतिवेदन एवं पंचनामा तैयार किया जाएगा। इसके लिए ग्राम पंचायत सचिव, वन रक्षक और पटवारी द्वारा तैयार की जाने वाली प्रतिवेदन और पंचनामा में (नक्शा, खसरा, टोप्पो शीट, स्थल जांच पंचनामा एवं चौहद्दी रिपोर्ट सहित प्रतिवेदन शामिल है)। तीसरा चरण 7 अगस्त और 14 अगस्त के मध्य सात दिन निर्धारित है। इस अवधि में ग्राम सभा एवं वन अधिकार समिति द्वारा अनुमोदन किया जाएगा। चौथा चरण 16 अगस्त से 23 अगस्त के मध्य सात दिन निर्धारित है।इस अवधि में खंड स्तरीय वन अधिकार समिति द्वारा अनुमोदन किया जाएगा। पाँचवा और प्रक्रिया का अंतिम चरण 24 अगस्त और 31 अगस्त के मध्य 7 दिन निर्धारित है। इस अवधि में जिला स्तरीय वन अधिकार समिति द्वारा अनुमोदन की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। कलेक्टर ने राजस्व और वन अधिकारियो को पूरी प्रक्रिया को समय में पूरा करने के निर्देश दिए है। कलेक्टर ने इस बैठक में जिले में खाद की उपलब्धता और वितरण की समीक्षा की। उन्होंने सर्व अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को खाद गोदामों का निरीक्षण करने के भी निर्देश दिए। बैठक में अपर कलेक्टर पीएस ध्रुव अभी एसडीएम राजस्व, तहसीलदार, वन विभाग के अधिकारी उपस्थित थे। हिन्दुस्थान समाचार/संजय/पल्लवी
image