Hindusthan Samachar
Banner 2 बुधवार, सितम्बर 26, 2018 | समय 13:52 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

तनाव दूर करने के साथ गुस्से पर भी कंट्रोल करवाएंगे शिक्षक

By HindusthanSamachar | Publish Date: Jul 14 2018 11:29AM
तनाव दूर करने के साथ गुस्से पर भी कंट्रोल करवाएंगे शिक्षक
झुंझुनू, 14 जुलाई (हि.स.) । स्कूल हो या फिर हॉस्टल बच्चों का तनाव, परिजनों की सबसे बड़ी चिंता का विषय होता है। इन दिनों ये देखने में आ रहा है कि बच्चों में गुस्सा जल्दी आने की प्रवृत्तियां बढ़ रही हैं। इन सब छोटी मगर महत्वपूर्ण बातों पर बिरला एजुकेशन ट्रस्ट पिलानी ने ना केवल एक्शन प्लान बना लिया है, बल्कि इस पर काम भी शुरू कर दिया है। अब शिक्षक बच्चों को तनाव से दूर रहने के टिप्स देंगे। बीईटी निदेशक मेजर जनरल एसएस नायर ने पत्रकार वार्ता में इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि आरआई अजमेर और साईं धाम मुंबई के धर्म आश्रम में अब तक 100 से अधिक टीचर तनाव और गुस्से से बच्चों को मुक्ति दिलाने के टिप्स सीखे है। बीईटी का टारगेट है कि आने वाले दो सालों में बीईटी की स्कूलों में पढ़ाने वाले हरेक शिक्षक को एक अच्छे टीचर के साथ-साथ काउंसलर भी बना दिया जाए ताकि बच्चों की आधी से ज्यादा परेशानी कक्षा में ही खत्म हो जाए। नायर ने बताया कि इसके अलावा बीईटी अपने सभी स्कूलों को नेबेट से भी संबद्धता दिलवा रहा है। नेबेट संस्था, भारत सरकार की एक संस्था है। जो सीबीएसई स्कूलों के स्तर की जांच करता है। अब तक देश के केवल 50 स्कूलों को ही यह संबद्धता मिली है। जिसमें से बीईटी की दो स्कूलों बिरला शिशु विहार और बिरला पब्लिक स्कूल शामिल है। इस साल के अंत तक बिरला बालिका विद्यापीठ को भी यह संबद्धता मिल जाएगी। इससे स्कूल के स्तर को राष्ट्रीय स्तर पर आसानी से देखा जा सकेगा। उन्होंने बताया कि बीईटी अगले सत्र तक राजस्थान को एक और संस्था श्रीगंगानगर में देगा। जिसका निर्माण बड़े स्तर पर चल रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/रमेश/सुप्रभा/पवन
image