Hindusthan Samachar
Banner 2 गुरुवार, जुलाई 19, 2018 | समय 11:40 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

दरिंदा : गर्भवती पत्नी को मल-मूत्र पिलाया, बाल मूड़े और निर्वस्त्र कर घर से भगाया

By HindusthanSamachar | Publish Date: Jul 14 2018 9:34AM
दरिंदा : गर्भवती पत्नी को मल-मूत्र पिलाया, बाल मूड़े और निर्वस्त्र कर घर से भगाया
भागलपुर, 14 जुलाई (हि.स.)। बिहार के भागलपुर में सन्हौला थाना क्षेत्र के महेशपुर गांव में मानवता को शर्मसार करने वाला मामला प्रकाश में आया है। यहां एक पति ने अपनी पत्नी पर इस कदर जुल्म किया कि मानवता तार-तार हो गई। पति ने अपनी गर्भवती पत्नी को पहले जमकर पीटा। फिर, उसका सिर मुंड दिया। इतने पर भी उसका जी नहीं भरा, तो उसने अपना मल-मूत्र पत्नी को पिलाया, उसके कपड़े खोल कर जला दिए और निर्वस्त्र अवस्था में ही घर से भगा दिया। पीड़िता धनकुण्ड थाना क्षेत्र के कासिमपुर गांव निवासी लोदी शर्मा की 19 वर्षीय पुत्री सुमन कुमारी ने बताया कि उसकी शादी एक साल पूर्व महेशपुर निवासी फेकन तांती के पुत्र मदन कुमार से हुई थी। शादी के दस दिन के बाद से ही पति उसे दहेज की राशि को लेकर प्रताड़ित करने लगा था। मायके से पैसा नहीं लाने पर वह दिन-रात मारपीट करता था। कई दिनों तक कमरे में बंद करके भूखे-प्यासे छोड़ देता था। किसी तरह उस समय घटना की सूचना मैने अपने अपनी मां सुमन देवी को दी। हमारे घर के सदस्य, वहां से सरपंच, वार्ड सदस्य एवं अन्य मायके वाले यहां आए| उन्होंने हमारे पति को काफी समझाया और चले गए। कुछ दिनों तक तो पति का रवैया ठीक रहा। लेकिन कुछ माह से पति हमारे साथ अजीब व्यवहार करने लगे। कई तरह के अनाज को मिलाकर वे हमारे सामने रख देते और कहते कि इसे अलग-अलग कर खाना पकाओ। जब मैं कहती कि ऐसा क्यों करते हैं तो वो हमें मारने लगते। मैने कहा कि मेरे पेट में बच्चा है| वो कहने लगे ये मेरा बच्चा नहीं है| तुमने किसी और से संबध बनाया है। इसको लेकर मेरी बेरहमी से पिटाई कर दी। फिर भी मैं सहन करती रही। लेकिन गुरुवार को सुबह में मैं खाना बना रही थी कि अचानक पति ने हमे कमरे में बुलाया और कहा कि मैं कैसे विश्वास करूं कि तुम्हारे गर्भ में पल रहा बच्चा हमारा है। इस पर मैंने कहा कि यह साबित करने के लिए आप जो बोलेंगे मैं मानने को तैयार हूं। उसके बाद मेरे पति ने हमे मूत्र पिलाया, मल पिलाया। हमें उल्टी होने लगी और मैं बेहोश हो गई। इसके बाद क्या हुआ मुझे नहीं पता। शुक्रवार देर शाम पीड़ित पक्ष के लोग महेशपुर के मुखिया वर्तिका राज के आवास पहुंचे और उनसे न्याय की गुहार लगाई। मुखिया ने सन्हौला थाना को घटना की सूचना दी। सन्हौला पुलिस ने मौके पर पहुंच कर आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया है। सन्हौला थानाध्यक्ष नीरज कुमार ने बताया कि देर शाम तक पीड़ित परिवार के द्वारा आवेदन नहीं दिया गया है। आवेदन मिलने के बाद प्रथमिकी दर्ज कर कार्यवाही की जाएगी। महेशपुर के मुखिया प्रतिनिधि अरविंद कुमार अकेला ने प्रशासन से आरोपी को कठोर से कठोर सजा देने की मांग की है। हिन्दुस्थान समाचार/बिजय/राधा रमण
image