Hindusthan Samachar
Banner 2 गुरुवार, जुलाई 19, 2018 | समय 11:30 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

जनहित में निर्माणाधीन सड़कों से तत्काल हटाया जाय मलबा: मण्डलायुक्त

By HindusthanSamachar | Publish Date: Jul 13 2018 11:08PM
जनहित में निर्माणाधीन सड़कों से तत्काल हटाया जाय मलबा: मण्डलायुक्त
इलाहाबाद, 13 जुलाई (हि.स.)। शहर में जलभराव से लापरवाही उजागर होते ही मण्डलायुक्त ने शुक्रवार की शाम कुम्भ कार्यो में लगे विभागों के पेंच कसते हुए निर्देश दिया कि जनहित में सड़कों से तत्काल मलबा हटाया जाय। जनजीवन को हर हाल में सामान्य करने के लिए रात नौ बजे तक अधिकारी काम करें। मण्डलायुक्त ने अपने कार्यालय में नगर निगम, विकास प्राधिकरण और जल निगम तथा गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई के साथ पीडब्लूडी के अधिकारियों को युद्ध स्तर पर कार्य करने का निर्देश देते हुए कुम्भ की समीक्षा बैठक में इसी विषय को मुख्य मुद्दा बनाया तथा वहीं से अधिकारियों को तत्काल मौके पर रवाना किया। नगर वासियों के लिए तेजी से राहत और मरम्मत के कार्य पूरे किये जाय। इस पर हर प्रगति की रिर्पोट उन्हें तत्काल दी जाय। शुक्रवार रात 9 बजे तक नगर निगम, सेतु निगम, विकास प्राधिकरण और जल निगम के अधिकारी सड़कों की मरम्मत तथा खुदाई के काम समाप्त होने का सर्टिफिकेट लेकर उनके सामने उपस्थित हो। सेतु निगम के अधिकारियों को मण्डलायुक्त ने कठोरता के साथ कहा कि चल रहे निर्माण कार्यों के स्थलों पर मौजूद मलबे को तत्काल हटाया जाय। जिससे जनता को आवागमन में असुविधा न सहनी पड़े। निर्माणाधीन सड़कों पर बैरिकेटिंग की जाय। वह कहीं भी औचक निरीक्षण कर सकते हैं। उन्होंने नियंत्रण अधिकारियों को सख्ती बरतने के लिए निर्देश देते हुए कहा कि कार्यदायी एजेंसियों और ठेकेदारों पर अंकुश लगाकर अगली बारीश से पूर्व दुरूस्त की जाय। इसके साथ ही जनता की सुरक्षा को पुख्ता इन्तजाम किया जाय। निर्माण कार्यो में लगे मजदूर समेत सभी कर्मचारी हेलमेट लगाकर ही काम करें। मण्डलायुक्त को यह बताया गया कि भारी बरसात के 24 घंटों के भीतर अधिकांश क्षेत्रों में जल निकासी के प्रबंध प्रभावी तौर पर सुनिश्चित किया गया और बिजली आपूर्ति भी बहाल कर ली गई। जिला प्रशासन ने आकस्मिक स्थितियों से निपटने के लिए एक कन्ट्रोल रूम भी स्थापित किया है। जनता से सहयोग को जिलाधिकारी ने की अपील जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने नगर वासियों से अपील किया है कि कुम्भ कार्यो के चलते हर तरफ निर्माण और सुन्दरीकरण कार्य तेज गति से जारी है। जारी कार्य आगामी दो-तीन माह में ही पूरा हो जायेगा। जिला प्रशासन हर प्राकृतिक असुविधा में नागरिकों के साथ खड़ा है तथा ऐसी हर समस्या से निजाद दिलाने में कोई कसर नही छोड़ेगा। नगर की अधिकतर बस्तियों में जमीनी स्तर नीचा होने की वजह से जल भराव की समस्या कई वर्षो से है। इस समस्या से निजात दिलाने के लिए इसी वर्ष प्रारम्भ की गयी स्मार्ट सिटी परियोजना में फूल प्रूफ सीवर प्रबंधन के काम को सर्वोच्च प्राथमिकता दी गयी है। इसकी कार्ययोजना बनायी जा रही है। इसी तरह कुम्भ के कार्यो में सड़कों का चौड़ाकरण पिछली वर्ष बरसात के बाद से शुरू हुआ है, जो इस वर्ष के अक्टूबर माह से पूर्व पूरा होना है। कुम्भ की समीक्षा बैठक में शुक्रवार को भारतीय जल मार्ग प्राधिकरण के निदेशक ने मेला क्षेत्र में क्रूज फेरी संचालन का प्रेजेटेंशन दिया। प्रेजेटेंशन के माध्यम से मेले में यातायात साइनेज लगाये जाने पर भी विचार-विमर्श हुआ। मण्डलायुक्त ने निर्देश दिये कि साइनेज में दिखाये जाने वाले विषय ऐसी भाषा मे रखे जायं, जो जनता की नजर में आकर्षक भी हो और आसानी से समझ में आये। मेलाधिकारी ने बताया कि साइनेज का काम नगर में अगस्त से प्रारम्भ होते हुए पूरे मेला क्षेत्र में अक्टूबर-नवम्बर तक पूरा कर लिया जायेगा। बैठक में थर्ड पार्टी निरीक्षण एवं अधिकारियों के निरीक्षण की आख्या देखते हुए मण्डलायुक्त ने सभी सम्बन्धित कार्यदायी एजेंसियों के अधिकारियों को लिखित रूप से सचेत किये जाने का निर्देश देते हुए कहा कि निर्माण कार्यो में आँख खुली रखकर काम किया जाय तथा साधारण और छोटी सी गलती भी छोड़ी न जाय। उन्होंने कार्यदायी विभागों के अधिकारियों को यह निर्देश दिया कि कुम्भ का हर काम ऊंची गुणवत्ता का होना चाहिए। हिन्दुस्थान समाचार/ राम बहादुर/राजेश
image