Hindusthan Samachar
Banner 2 बुधवार, अगस्त 15, 2018 | समय 07:21 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

बचाओ-बचाओ की आवाज से गूंजा घाघरा का तट

By HindusthanSamachar | Publish Date: Jun 14 2018 10:37PM
बचाओ-बचाओ की आवाज से गूंजा घाघरा का तट
बहराइच, 14 जून (हि.स.)। गुरुवार को महसी तहसील के कायमपुर गांव स्थित घाघरा नदी में डूब रहे व्यक्ति को देख कुछ पल के लिए लोगों की सांसें थम गई। बचाओ-बचाओ की आवाज पाकर लोग व्याकुल हो उठे। चंद पलों में नारंगी रंग की लाइफ जैकेट पहने नाव पर सवार कुछ लोग डूब रहे व्यक्ति के पास पहुंचे। पानी में प्लास्टिक का छल्ला छोड़ व्यक्ति को किनारे खींचा। आनन-फानन में उसे स्ट्रेचर पर लाया गया और एंबुलेंस से चिकित्सालय भेजा गया। यह कुछ और नहीं बल्कि प्रशासन द्वारा बाढ़ पूर्व तैयारियों के दृष्टिगत बचाव और राहत का पूर्वाभ्यास था। पूरा माजरा समझ ग्रामीणों ने राहत की सांस ली। बाढ़ बचाव के प्रति ग्रामीणों को जागरूक किया गया। गुरुवार को कायमपुर गांव स्थित घाघरा नदी के किनारे जिला व तहसील स्तरीय अधिकारियों का काफिला पहुंचा। अधिकारियों कर्मचारियों के शरीर पर बंधी नारंगी की रंग की लाइफ जैकेट अपनी जोरदार उपस्थिति दर्ज करा रही थी। अधिकारियों का हुजूम देख आसपास के गांव के ग्रामीण भी नदी के तट पर इकट्ठा हो गए। अचानक एक व्यक्ति घागरा की धारा में बह चला और डूबने लगा। बचाओ-बचाओ की आवाज सुन 32 वीं बटालियन पीएसी के फ्लड यूनिट के सदस्य नाव लेकर धारा में पहुंचे। सुरक्षा रिंग के सहारे डूब रहे व्यक्ति को पानी से बाहर निकाला। अचेतावस्था में उस व्यक्ति को कुछ दूरी पर खड़ी एंबुलेंस तक ले जाया गया। एंबुलेंस से उसे उपचार के लिए भेजा गया। धारा में डूब रहे बचाए गए एक बालक के पेट से चिकित्सकों ने पानी बाहर निकाला। प्राथमिक उपचार देकर ठीक किया गया। मॉक ड्रिल में पशुपालन विभाग ने पशु टीकाकरण, बाढ़ के दौरान पशुओं की देखभाल, चारे का प्रबंधन, स्वास्थ्य विभाग द्वारा जच्चा बच्चा टीकाकरण, सर्पदंश, का उपचार, आपदा प्रबंधन द्वारा बाढ़ व अग्निकांड से निपटने, पानी बढ़ने की स्थिति में चेतावनी जारी करने यातायात विभाग ने बाढ़ की सूचना पर ग्रामीणों को वाहनों से सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने, तहसील प्रशासन ने लंगर, तिरपाल का वितरण व बाढ़ से घिरे गांवो से लोगों को बाहर निकालने, पुलिस ने आकस्मिक सहायता करने के बारे में, सिंचाई विभाग ने स्पर-स्टड व तटबंध के क्षतिग्रस्त होने पर सूचना देने संबंधी जानकारी दी। ग्रामीणों को जागरूक किया गया। एडीएम राम सुरेश वर्मा, एसडीएम गुलाम सरवर एएसपी अजय प्रताप,एआरटीओ प्रशासन वीरेंद्र सिंह, तहसीलदार राजेश कुमार वर्मा, डीएसओ राकेश कुमार, सीओ दिनेश कुमार शर्मा 32वीं बटालियन फ्लड पीएसी के कंपनी कमांडर चंद्रमोहन शर्मा, बीडीओ संतोष कुमार, सीएचसी प्रभारी डॉ अनेक कुमार वर्मा, डिप्टी सीवीओ डॉ एसके रावत, पशु चिकित्सक डॉ अनिरुद्ध सिंह, डॉ यशेंद्र वर्मा समेत अन्य अधिकारी-कर्मचारी व बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे। बारिश के बाद बढ़ा घाघरा का जलस्तर बुधवार की देर शाम हुई बारिश के बाद घाघरा का जलस्तर बढ़ गया है। पानी नदी के किनारों को छूने लगा है। ग्रामीणों का कहना है कि अचानक पानी बढ़ गया। देर रात तक करीब 50 सेंटी मीटर तक पानी बढ़ गया था। गुरुवार को जलस्तर में कुछ कमी आई है। ग्रामीणों ने बताया की यदि जलस्तर बढ़ा तो कटान शुरू हो जाएगी। हिन्दुस्थान समाचार / राहुल/राजेश
image