Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, जून 18, 2018 | समय 08:53 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

फर्जी मस्टर के जरिए तालाब गहरीकरण की राशि हड़प गया रोजगार सहायक

By HindusthanSamachar | Publish Date: Jun 14 2018 9:34PM
फर्जी मस्टर के जरिए तालाब गहरीकरण की राशि हड़प गया रोजगार सहायक
छतरपुर, 14 जून (हि.स.)। जनपद पंचायत छतरपुर के अंतर्गत ग्राम सुकवां के ग्रामीणों ने गुरुवार को जिला कलेक्टर के नाम आवेदन दिया है कि ग्राम पंचायत के रोजगार सहायक ने फर्जी मस्टर के जरिए तालाब गहरीकरण की राशि हड़प ली है और इसमें परिवारवालों और अपने सगे संबंधियों के नाम के फर्जी मस्टर लगा दिये हैं। ज्ञापन में बताया गया है कि ग्राम पंचायत सुकवा में स्कूल के पास तालाब का गहरीकरण किया जाना था लेकिन रोजगार सहायक ने गहरीकरण नहीं कराया। जब ग्रामवासियों ने मनरेगा की राशि 2017-18 का भुगतान देखा तो उसमें तालाब के गहरीकरण की राशि का गबन पाया गया। जबकि वर्तमान में तालाब का गहरीकरण ही नहीं किया गया। तालाब की मिट्टी खुदाई का काम 2015-16 में किया गया था जब ग्राम सुकवां में नहर का काम चल रहा था तभी ग्रामीणों के कहने पर मिट्टी निकाली गई थी लेकिन रोजगार सहायक के द्वारा तालाब गहरीकरण बताकर राशि का भुगतान अपने परिजनों और सगे संबंधियों के मस्टर लगाकर कर लिया गया है। जिन लोगों के खातों में राशि का भुगतान किया गया है उन व्यक्तियों के द्वारा तालाब में कोई भी काम नहीं किया गया है। जिनके नाम राशि निकाली गई है उनमें चेतराम चौबे, परमानंद पटेल (रोजगार सहायक के पिता) राजेश पटेल, पप्पू पटेल, मंगलदीन पटेल, पुष्पेन्द्र पटेल, पवन चौबे, चतुर्भुज पटेल, मालती पटेल, चिंतामन पटेल, श्यामलाल पटेल, मोहम्मद हबीब, सहदेव अहिरवार इत्यादी लोग शामिल हैं जिनके नाम से राशि निकाली गई है। ग्रामीणों ने 29 मई को एक आवेदन भी दिया था लेकिन अभी तक इस आवेदन पर कोई सुनवाई नहीं की गई है। ग्रामीणों ने पुन: जिला प्रशासन से मांग की है कि तालाब गहरीकरण के काम की जांच कराकर फर्जी तरीके से राशि आहरित करने वाले रोजगार सहायक के विरुद्ध कार्यवाही की जाये। हिन्दुस्थान समाचार / पवन
image